December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

जानिए, सर्दियों में क्‍यों पुरुषों की तुलना में महिलाओं के हाथ-पांव रहते हैं ज्‍यादा ठंडे

आज हम आपको बताएंगे कि महिलाएं ठंड से ज्यादा परेशान क्यों होती हैं और इसके पीछे क्या वजह है।

महिलाएं रायनॉड बीमारी का ज्यादा शिकार होती है, जिसमें महिलाओं के कई अंग तक ब्लड सर्कुलेशन अच्छे से नहीं हो पाता है और इसी वजह से उनके पांव और हाथ की अंगुलियां ठंडी रहती है।

दिवाली के बाद सर्दी ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। सर्दी के मौसम में आपने देखा होगा कि महिलाओं को ठंड ज्यादा लगती है और उनका हाथ-पांव भी पुरुषों की तुलना में ज्यादा ठंडे रहते हैं और ठंडे बने रहते हैं। इससे बचने के लिए महिलाएं दस्ताने, गर्म सेक आदि की मदद से उन्हें गर्म करने की कोशिश करती रहती है। लेकिन क्या आप जानते हैं ऐसा क्यों होता है और महिलाओं को पुरुषों की तुलना में ज्यादा ठंड क्यों लगती है। आज हम आपको बताएंगे कि महिलाएं ठंड से ज्यादा परेशान क्यों होती हैं और इसके पीछे क्या वजह है।

महिलाओं के शरीर का मुख्य तापमान ज्यादा होता है, क्योंकि उनमें वसा (बॉडी फैट) अधिक होती है। वसा की बहुलता शरीर में गर्मी बनाए रखने में सहायक होती है, दूसरी तरफ पुरुषों में ज्यादा मांसपेशियां होती हैं, जिनकी वजह से शरीर की गर्मी जल्दी से फैल पाती है। महिलाओं के शरीर में एक हार्मोन एस्ट्रोजन पाया जाता है और ये खून को इतना गाढ़ा बना देता है कि खून पतली रक्त-वाहिकाओं में नहीं जा पाता जो कि खासकर हाथ, पांव और कानों में होता है। यूनिवर्सिटी ऑफ पोर्ट्समाउथ के प्रोफेसर माइकल टिपटोन ने बताया कि ‘एस्ट्रोजन रक्त वाहिकाओं को ठंड के प्रति ज्यादा संवेदनशील बनाता है। एक महिला के शरीर का तापमान बढ़ता-घटता रहता है और ये 36.9 डिग्री से 37.4 डिग्री के बीच उतरता-चढ़ता रहता है, जबकि पुरुषों के शरीर का तापमान 37 डिग्री पर स्थिर रहता है। ऐसी ही कई वजह हैं जिनसे साबित होता है कि महिलाओं को ज्यादा ठंड लगती है और उनके हाथ पांव ठंड रहते हैं।

2 दिन बाद खुले ATM; पैसे निकालने के लिए लगी लंबी लाइनें

एक सर्वे में सामने आया था कि महिलाएं पुरुषों की तुलना में नौ गुना ठंडा उत्पन्न करती है। साथ ही महिलाएं रायनॉड बीमारी का ज्यादा शिकार होती है, जिसमें महिलाओं के कई अंग तक ब्लड सर्कुलेशन अच्छे से नहीं हो पाता है और इसी वजह से उनके पांव और हाथ की अंगुलियां ठंडी रहती है। इसके साथ साथ कई तर्क में कहा गया है कि महिलाओं का शरीर फैट लेयर में होता है, जो कि आंतरिक इन्सुलेशन प्रदान करता है और खून अंगुलियों तक नहीं पहुंच पाता है। वहीं पुरुषों में गर्मी पैदा करने वाली मांसपेशियां होती है, जिससे खून का संचार अच्छे से होता है और उन्हें सर्दी कम लगती है।

हेल्थ से जुड़ी खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 11, 2016 12:54 pm

सबरंग