ताज़ा खबर
 

आचार्य बालकृष्ण के इन नुस्खों को अपनाकर इन 5 रोगों को रखें दूर

आज हम आपको आचार्य बालकृष्ण के बताए हुए नुस्खे बता रहे हैं, जिससे आप आसानी से कई रोगों से निजात पा सकते हैं।
बथुआ पेट के रोगों को दूर करता है और जिन लोगों को भूख कम लगती हो या खाना पचने संबंधी दिक्कत होती है तो उन लोगों को बथुए का सेवन करना चाहिए।

कई ऐसी बीमारियां होती हैं, जिनका इलाज आप घर पर ही कर सकते हैं और इसके लिए आपको अस्पताल जाने की जरुरत नहीं है। लेकिन इसके लिए घरेलु नुस्खों की सही जानकारी होना आवश्यक है। इसलिए आज हम आपको आचार्य बालकृष्ण के बताए हुए नुस्खे बता रहे हैं, जिससे आप आसानी से कई रोगों से निजात पा सकते हैं।

दिल के रोगों के लिए पत्तागोभी- पत्तागोभी में सेलुलोस नाम का एक तत्व होता है जिसकी वजह से पत्ता गोभी दिल संबंधी रोगों से हमारी रक्षा करती है। इसमें पाए जाने वाले रेश के कारण यह शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ने नहीं देती है और दिल को स्वस्थ रखने में मदद करती है।

पाचन शक्ति बढ़ाने के लिए बथुआ- बथुआ पेट के रोगों को दूर करता है और जिन लोगों को भूख कम लगती हो या खाना पचने संबंधी दिक्कत होती है तो उन लोगों को बथुए का सेवन करना चाहिए। वहीं अगर आप इन रोगों के लिए बथुए के राएते का सेवन करेंगे तो आपके लिए और भी अच्छा रहेगा।

जुकाम में पीएं तेजपत्ते की चाय- अगर आप भी जुकाम से परेशान हैं तो चाय पत्ती की जगह तेजपत्ते के चूर्ण की चाय पीने से सर्दी-जुकाम, छींके आना, नाक बहना, जलन, सिरदर्द आदि की दिक्कतें दूर होती है और जल्द ही आराम मिलता है।

आंखों के लिए गाजर- गाजर में बीटा-कैरोटीन पाया जाता है जो आंखों की रोशनी बढ़ाने के साथ ही आंखों की रतौंधी और मोतियाबिंद जैसे रोगों से भी रक्षा करता है। वहीं सर्दियों में हर रोज गाजर का ज्यूस पीने से आंखों स्वस्थ रहती है और आंखों की कई छोटी-मोटी दिक्कत दूर होती है।

पेट की दिक्कतों के लिए गुड़- गुड़ पेट के रोगों के लिए एक फायदेमंद चीज है, ये स्वाद में अच्छा होने के साथ साथ आपके शरीर के लिए दवा का काम करता है। गुड़ पेट में गैस बनना और पाचन से जुड़े अन्य रोगों को दूर करता है। हर रोज खाना खाने के बाद गुड़ खाने से पाचन तंत्र अच्छा होता है।

शिवपाल यादव करेंगे नई पार्टी का निर्माण; जिन उम्मीदवारों को सपा का टिकट नहीं मिला उनके लिए करेंगे प्रचार

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.