December 08, 2016

ताज़ा खबर

 

PETA की लोगों को सलाह, “दूध छोड़कर पीएं बीयर, हेल्थ पर होगा बेहतर असर”

पेटा के मुताबिक, "डेयरी फूड के इस्तेमाल से ह्रदय, मोटापा, शुगर और कैंसर समेत कई तरह की स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।

लोगों को यह संदेश देने के लिए पेटा ने प्रचार करना भी शुरू कर दिया है।

बीयर पीने के कई फायदे आपने सुने और पढ़े होंगे, लेकिन क्या आपको पता है बीयर दूध से भी ज्यादा स्वास्थ्यवर्धक होती है? पीपुल फॉर एथिकल ट्रीटमेंट ऑफ एनिमल (PETA) ने दावा किया है कि दूध से बेहतर है कि आप बीयर पीएं। पेटा के एग्जीक्यूटिव वाइस प्रेसिडेंट ट्रेसी रीमेन ने कहा, “अगर बीयर संतुलित मात्रा में ली जाए तो यह दूध से भी ज्यादा लाभकारी हो सकती है।”

पशु-अधिकार संगठन पेटा ने बीयर को ज्यादा फायदेमंद बताने वाले कुछ तथ्य भी सामने रखे। पेटा के मुताबिक, “डेयरी फूड के इस्तेमाल से ह्रदय, मोटापा, शुगर और कैंसर समेत कई तरह की स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। इसके अलावा डेयरी फूड मुहांसे, बलगम, अपच जैसी बीमारियां के लिए भी जिम्मेदार है। वहीं बात करें बीयर की तो यह आपकी हड्डियों को मजबूत बनाती है साथ ही ह्रदय व कैंसर होने के खतरे को कम करती है।”

वीडियो: इस दिवाली ATM से मिलेंगे सोने के सिक्के; नहीं लगाना पड़ेगा बाज़ार का चक्कर

Read Also: पानी कम पीने से होते हैं ये 10 नुकसान, शरीर भी देता है संकेत

लोगों को यह संदेश देने के लिए पेटा ने प्रचार करना भी शुरू कर दिया है। इसके लिए अमेरिका की टॉप रैंकिंग यूनिवर्सिटी में से एक “यूनिवर्सिटी ऑफ विस्कॉन्सिन-मैडिसन” के कैंपस के पास पेटा ने एक बोर्ड लगवाया गया है। यह बोर्ड लगाने का उद्देश्य छात्रों को दूध की जगह बीयर पीने के लिए प्रेरित करना है। विज्ञापन में लिखा गया है “बीयर ली? अब यह सिद्ध हो गया है कि बीयर दूध से ज्यादा फायदेमंद है।” यह पहली बार नहीं है जब पेटा ने बीयर को लेकर ऐसा कैंपेन चलाया हो। इस तरह का पहला विज्ञापन 2000 में चलाया गया था, हालांकि इसके विरोध में मदर्स अगेंस्ट ड्रंक ड्राइविंग (MADD) जैसी कई संस्थाएं आ गई थीं। विरोध के बाद पेटा को ना सिर्फ विज्ञापन हटाना पड़ा था, बल्कि 500 यूएस डॉलर का जुर्माना भी देना पड़ा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 27, 2016 12:52 pm

सबरंग