ताज़ा खबर
 

फायदे ही नहीं सेहत पर गलत असर डालता है शहद, जानिए- इसके नुकसान

आइए जानते हैं शहद किस तरह से आपके शरीर को नुकसान पहुंचाता है और इससे क्या क्या नुकसान हो सकते हैं।
शहद एसिडिक स्वभाव का होता है जिसके अधिक सेवन से आपका इनैमल नष्‍ट हो सकता है। इसके अलावा ये भोजन नली, आंत और पेट को प्रभावित कर सकता है।

ये तो सब जानते हैं कि शहद शरीर के लिए काफी फायदेमंद होता है और शहद से कई बीमारियां दूर हो सकती है। हालांकि हर चीज के कुछ नुकसान भी होते हैं और वैसे ही शहद से भी शरीर को कुछ नुकसान पहुंचता है। आपको यह जानकर अजीब लगेगा कि शहद भी आपके शरीर को नुकसान पहुंचाता है, लेकिन यह सही है कि शहद का अधिक इस्तेमाल नुकसान का कारण बन सकता है। आइए जानते हैं शहद किस तरह से आपके शरीर को नुकसान पहुंचाता है और इससे क्या क्या नुकसान हो सकते हैं।

पेट खराब हो सकता है- शहद शरीर को फायदा तो पहुंचाता है, लेकिन इसके ज्यादा सेवन से पेट में ऐंठन, सूजन और दस्‍त जैसी समस्‍याएं हो सकती हैं। इतना ही नहीं इसे ज्‍यादा खाने से और कई सारी परेशानियां हो सकती हैं। वहीं ज्‍यादा शहद खाने से छोटी आंत पर असर पड़ सकता है जिससे पोषक तत्‍वों को अवशोषित करने में परेशानी हो सकती है।

भोजन नली होती है प्रभावित- शहद एसिडिक स्वभाव का होता है जिसके अधिक सेवन से आपका इनैमल नष्‍ट हो सकता है। इसके अलावा ये भोजन नली, आंत और पेट को प्रभावित कर सकता है। वहीं शहद ज्‍यादा मीठा होता है जिससे इंसुलिन के बढ़ने का ज्‍यादा खतरा होता है। इसके अलावा शहद के सेवन से डायबिटीक के मरीजों का ब्‍लड शुगर बढ़ सकता है।

एलर्जी का खतरा- बता दें कि शहद को पोलेन से बनाया जाता है। अगर आपको पोलेन से एलर्जी होती है तो इससे आप प्रभावित हो सकते हैं। इससे आपको फुंसी, निगलने में परेशानी और सांस लेने में परेशानी हो सकती है।

कैलोरी बढ़ाने में सहायक- ज्‍यादा शहद खाने से आपकी बॉड़ी में कैलोरी की मात्रा बढ़ सकती है। अगर आप अपना वजन कम करने की योजना बना रहे हैं तो आपको इसका सेवन सीमित कर देना चाहिए।

कमजोरी हो सकती है- शहद रोडडेन्ड्रन फूल से बनता है जिससे आपको कमजोरी और पसीना आ सकता है। इसके अलावा रोजाना शहद खाने से उल्‍टी भी हो सकती है।

राज ठाकरे से मिले शाहरुख खान; विश्वास दिलाया- रईस का प्रमोशन नहीं करेंगी माहिरा खान

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.