ताज़ा खबर
 

इस वजह से होता है गर्दन में दर्द, घर पर ही करें ऐसे करें दूर!

आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि गर्दन को इस दर्द से निजात दिलाने के लिए क्या करना चाहिए।
कभी भी देर तक गर्दन झुकाए मोबाइल का इस्तेमाल न करें, इससे बहुत जल्दी मांसपेशियां अकड़ जाती हैं और फिर उनमें दर्द होने लगता है।

जब आप लगातार ऑफिस में काम करते हैं या एक ही पॉजिशन में बैठे रहते हैं तो आपकी गर्दन में तेज दर्द होने लगता है और आपकी गर्दन भी अकड़ने लग जाती है। कई बार ज्यादा देर तक फोन पर बात करने या कुर्सी पर लंबे समय पर बैठने से भी ये दिक्कत हो जाती है। हालांकि कुछ मामलों में स्ट्रेस के कारण भी दर्द के ऐसे लक्षण देखने को मिलते हैं। इसलिए आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि गर्दन को इस दर्द से निजात दिलाने के लिए क्या करना चाहिए।

अगर आप भी इस दिक्कत से परेशान हैं तो आप आसानी से इस दिक्कत से रह सकते हैं, इसके लिए बस आपको अपनी आदतों में कुछ बदलाव लाने होंगे। इसके लिए आपको सोफे या कुर्सी पर बैठते समय या मोबाइल चलाते समय आपको अपने शरीर के पोश्चर पर विशेष ध्यान देना होगा। कभी भी देर तक गर्दन झुकाए मोबाइल का इस्तेमाल न करें, इससे बहुत जल्दी मांसपेशियां अकड़ जाती हैं और फिर उनमें दर्द होने लगता है। इसलिए ऐसी आदतें पहचानें जिनसे ये दर्द होता है फिर उन आदतों में सुधार लाकर आप इस दर्द से छुटकारा पा सकते हैं।

वहीं अगर आप ऑफिस या अपनी दुकान में एक ही जगह बैठकर घंटों कंप्यूटर पर काम करते हैं तो ऐसे में लगभग हर 45 मिनट के बाद 2-3 मिनट तक कुर्सी से उठें और थोड़ी देर घूमें। आप चाहें तो ऑफिस में योगा भी कर सकते हैं। साथ ही हो सके तो एक पोश्चर में ज्यादा वक्त तक ना बैठे रहें। वहीं अगर गर्दन में जकड़न होने के साथ ही हाथों और पैरो की उंगलियां सुन्न पड़ना शुरू हो गई है तो और ये दर्द काफी लम्बे से चला आ रहा है तो डॉक्टर की सलाह लें। कभी कभी गर्दन अकड़ने के साथ ही हाथो में कमजोरी भी महसूस होने लगती है और लोअर बैक में दर्द होने लगता है। कुछ मामलों में रात में सोते समय दर्द और बुखार भी होने लगता है। इन सारे लक्षणों के होने पर कभी भी इस बीमारी को अनदेखा न करें जल्द ही किसी अच्छे ओर्थोपेडिक से अपनी जांच करवाएं।

तमिलनाडु में वैध हुआ जल्लीकट्टू; विधानसभा के विशेष सत्र में सर्वसम्मति से पास हुआ बिल

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.