ताज़ा खबर
 

दोपहर में 20 मिनट की नींद लेने के हैं कई फायदे, इन बीमारियों में है फायदेमंद

अगर आप भी चाहते हैं कि आपका दिमाग और भी ज्यादा क्रिएटिव हो और आप काम में अधिक क्रिएटिविटी दिखाकर अच्छे से काम कर सकें, तो आपको हर रोज दिन में एक काम करना होगा, जिससे जल्दी आपका दिमाग तेज काम करेगा।
इस रिपोर्ट के अनुसार इंग्लैंड में यूनिवर्सिटी ऑफ लीड्स के वैज्ञानिकों का कहना है कि इससे क्रिएटिव होने के साथ ही डायबिटीज होने का खतरा भी कम होता है।

अगर आप भी चाहते हैं कि आपका दिमाग और भी ज्यादा क्रिएटिव हो और आप काम में अधिक क्रिएटिविटी दिखाकर अच्छे से काम कर सकें, तो आपको हर रोज दिन में एक काम करना होगा, जिससे जल्दी आपका दिमाग तेज काम करेगा। यह काम है दिन में 20 मिनट की झपकी यानि नींद। जी हां टेलीग्राफ की वेबसाइट में छपी एक रिसर्च में सामने आया है कि दिन में 20 मिनट की नींद से कर्मचारी ज्यादा क्रिएटिव होते हैं और उनकी किसी भी दिक्कत को सुलझाने की योग्यता भी बढ़ती है। ऐसा करने से आप ना सिर्फ अच्छा और अलग काम कर सकेंगे, बल्कि आप किसी भी दिक्कत से आसानी से निपट पाएंगे।

साथ ही नियमित रुप से ऐसा करने से डिप्रेशन और दिल की बीमारियों होने की संभावना भी कम हो जाती है और यह दिक्कतें नींद पूरी ना होने की वजह से भी होती है। अमेरिका के हार्वर्ड स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के अनुसार जो लोग दिन में थोड़ी देर सोते हैं, उनके दिल का दौरा पड़ने की संभावना 33 फीसदी तक कम हो जाती है। वहीं अगर नौकरी पेशा व्यक्ति ऐसा करते हैं तो दिल का दौरा पड़ने की संभावना 64 फीसदी तक कम हो सकती है।

हाल ही में चीन में भी दिन की नींद को लेकर प्रयोग किया गया था, जिसमें पाया गया कि दोपहर की नींद से आप रिफ्रेश हो जाते हैं। यह दिन सेहत के हिसाब से तो ठीक है ही जबकि यह कई देशों में परंपरा भी रही है। भारतीय संस्कृति में भी दोपहर की नींद का काफी महत्व रहा है, योग और आयुर्वेद की परंपरा में खाना खाने के बाद ली जाने वाली छोटी अवधि की नींद को वामकुक्षी कहा जाता है। वामकुक्षी के दौरान सिर को बाएं हाथ पर रखकर थोड़ी देर के लिए लेटा जाता है। अगर आप भी अपने काम में बेहतर रिजल्ट देखना चाहते हैं तो आप यह उपाय कर सकते हैं।

कांग्रेस नेता का विवादित बयान- "माहवारी में अपवित्र होती हैं महिलाएं, पूजा घर, मस्जिद में न जाएं"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.