May 23, 2017

ताज़ा खबर

 

किशोरों में मोटापे का इलाज के लिए देश का पहला क्लिनिक मुंबई में खुला

इंटरनेशनल एसोसिएशन फॉर द स्टडी ऑफ ओबेसिटी (आईएएसओ) और इंटरनेशनल ओबेसिटी टास्कफोर्स (आईओटीएफ) के अनुसार, 20 करोड़ स्कूली बच्चे मोटापे या अधिक वजन से ग्रस्त हैं।

सर्वेक्षण के मुताबिक 18 फीसदी स्कूली बच्चे मोटापे का शिकार पाए गए

किशोरों में बढ़ते मोटापे को नियंत्रित करने और उसका इलाज करने के लिए देश का पहला ऐसा क्लिनिक मुंबई में खुला है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की पत्नी और एक्सिस बैंक की उपाध्यक्ष अमरुता फडणवीस ने रविवार को इस क्लिनिक का उद्घाटन किया। यह क्लिनिक शहर के सूर्या अस्पताल में खोला गया है। इसे पुणे और मुबंई में हाल में किए गए सर्वेक्षण के बाद खोला गया है, जहां सर्वेक्षण के मुताबिक 18 फीसदी स्कूली बच्चे मोटापे का शिकार पाए गए जबकि 32 फीसदी बच्चों का वजन अधिक है और 52 फीसदी बच्चे डायबिटीज के खतरे की चपेट में हैं।

हॉस्पिटल मैनेजमेंट के मुताबिक, यह क्लिनिक मोटापा और मेटाबॉलिक डिजॉर्डर के इलाज का केंद्र होगा। यहां सलाहकारों से लेकर, पोषण विशेषज्ञ और मोटापे के इलाज से जुड़े स्पेशलिस्ट मौजूद रहेंगे। इस क्लिनिक में किशोरों में मोटापे के इलाज की सभी उन्नत तकनीक होगी।

वीडियो देखिए: ट्रंप-हिलेरी के बीच दूसरी प्रेशिडेंशियल बहस

अमरुता ने कहा, “मोटापे के इलाज के लिए सूर्या अस्पताल की यह एक प्रशंसनीय पहल है। इस इलाज के लिए यह केंद्र पूरी तरह से संसाधनों से लैस है। मोटापा किशोरावस्था के दौरान नियंत्रित किया जाना चाहिए। यह अध्यापकों और माता-पिता में जागरूकता बढ़ाकर किया जा सकता है। इसके लिए क्षेत्रीय और सांस्कृतिक संतुलित आहार को प्रोत्साहित किया जाना चाहिए।”

इंटरनेशनल एसोसिएशन फॉर द स्टडी ऑफ ओबेसिटी (आईएएसओ) और इंटरनेशनल ओबेसिटी टास्कफोर्स (आईओटीएफ) के अनुसार, 20 करोड़ स्कूली बच्चे मोटापे या अधिक वजन से ग्रस्त हैं।

Read Also-वियाग्रा जैसे फायदे के लिए खूब हर्बल कॉफी पी रहे अमेरिकी, पर बदले में मिल रहा दिल का रोग

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 10, 2016 1:26 pm

  1. No Comments.

सबरंग