ताज़ा खबर
 

कमर दर्द से परेशान हैं तो पहनिये ये स्‍मार्ट अंडरवियर, ब्‍लूटूथ से होगा कंट्रोल

इस तकनीक का मकसद जिन लोगों को कमर का दर्द है उनका इलाज करना नहीं, बल्कि कमर के निचले हिस्से की मांसपेशियों में खिंचाव और मोटापा कम करके दर्द होने से रोकना है।
Author August 2, 2017 15:09 pm
इस यंत्र को एक एप्प से भी नियंत्रित किया जा सकता है जिसे शोधकर्ताओं के दल ने ही बनाया है। (File Photo)

अगर आप कमर के दर्द से परेशान हैं तो आपके लिए राहत की खबर है। वैज्ञानिकों ने एक ऐसा स्मार्ट, यांत्रिक अंडरगारमेंट विकसित किया है जिससे कमर के निचले हिस्से की मांसपेशियों में खिंचाव और दर्द कम करने में मदद मिल सकती है। अमेरिका में वैंडरबिल्ट विश्वविद्यालय के इंजीनियरों ने बायोमेकैनिक्स और वियरएबल तकनीक से इस अंडरगारमेंट को तैयार किया है। वियरएबल तकनीक स्मार्ट इलेक्ट्रॉनिक यंत्र होते हैं जिन्हें शरीर पर पहना जा सकता है। वियरएबल यंत्रों में कपड़ों के दो हिस्से होते हैं जिनका इस्तेमाल सीने तथा पैरों के लिए किया जाता है। ये कपड़े नायलॉन कैनवास, लाइक्रा, पॉलिस्टर और अन्य किस्म के कपड़ों से बने होते हैं।

दोनों हिस्से कमर के बीच में मजबूत पट्टियों से जुड़े होते हैं और कमर के निचले हिस्से पर प्राकृतिक रबड़ के टुकड़े होते है। यह यंत्र इस तरह बनाया गया है कि व्यक्ति को जब जरुरत हो तभी वह इसका इस्तेमाल कर सकें। इस यंत्र को एक एप्प से भी नियंत्रित किया जा सकता है जिसे शोधकर्ताओं के दल ने ही बनाया है। वे ब्लूटूथ के जरिए इस स्मार्ट कपड़े को नियंत्रित कर सकते हैं।

इस तकनीक का मकसद जिन लोगों को कमर का दर्द है उनका इलाज करना नहीं, बल्कि कमर के निचले हिस्से की मांसपेशियों में खिंचाव और मोटापा कम करके दर्द होने से रोकना है।

बता दें कि कमर का दर्द आज एक आम बीमारी बन चुकी है। बड़ी तादाद में लोग इस समस्या से जूझ रहे हैं और इलाज कराने के बाद भी कोई खास राहत महसूस नहीं करते। ऐसे में इस बीमारी से निजात पाने के लिए बेहतरीन तरीका योगा भी है। आइए जानते हैं योगा के कुछ ऐसे आसन के बारे में जिनसे आप अपने कमर के दर्द से छुटकारा पा सकते हैं।

नौकासन- इस आसन को करना भी काफी आसान है। इसे करने के लिए आप सबसे पहले पीठ के बल लेट जाएं। दोनों पैर और दोनों हाथों को शरीर के साथ लगा लें। इसके बाद लंबी गहरी सांस लें और सांस छोड़ते हुए हाथों को पैरों कि तरफ बढ़ाएं, साथ ही अपने सीने को भी आगे की तरफ उठाएं। वहीं इसी प्रक्रिया के साथ ही पैरों को भी ऊपर की ओर उठाएं। कुछ समय के लिए आसन को बनाए रखें और गहरी सांसे लेते रहें। आखिर में साँस छोड़ते हुए, धीरे से जमीन पर वापिस सीधे लेट जाएं। इस आसन को करने से पेट की मासपेशियां सिकुड़ेंगी। इससे न सिर्फ कमर का दर्द ठीक होगा बल्कि पेट का फैट भी कम होगा।

अर्धहलासन- इसे करने के लिए आप जमीन पर पीठ के बल लेट जाएं। दोनों पैर एक दूसरे से मिला लें और हथेलियां जमीन पर टिका लें। इसके बाद धीरे-धीरे दोनों पैरों को ऊपर की ओर उठाएं और 90 डिग्री के कोण पर पैरों को रोक दें। लंबी और गहरी सांसे लेते रहे। इसके बाद दोनों हाथों को उठाते हुए सिर के पीछे की ओर ले जाएं और जमीन पर हाथों को टिकाएं। इसके बाद वापिस सही मुद्रा में आने के लिए पहले हाथों को आगे की ओर लाएं और फिर पैरों को नीचे कर लें।

भुजंगासन- रीढ़ की हड्डी को स्वस्थ रखने के लिए यह आसन एक कारगर उपाय है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक शरीर की रीढ़ का लचीला होना बेहद जरूरी है। ऐसा नहीं होने पर कमर में दर्द बढ़ने का खतरा बना रहता है। यह आसन रीढ़, गर्दन और कंधों की अकड़न को कम करने में मदद करता है जिससे सर्वाइकल की बीमारी से निजात पाई जा सकती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.