December 04, 2016

ताज़ा खबर

 

इन तरीकों से पहचानें, दिवाली पर घर आ रही मिठाई असली है या नकली?

जानकारी के अभाव में हम यह पता भी नहीं कर पाते कि कौनसी मिठाई असली है और कौनसी मिठाई नकली है। आइए जानते हैं किस तरह नकली मिठाइयों को पहचाना जा सकता है।

दिवाली के दिनों में मिठाई का अच्छा-खास कारोबार भी होता है और ग्राहकों की बढ़ती मांग को देखते हुए मिलावटी मिठाई भी बेचना शुरू कर देते हैं, जिससे सेहत संबंधी कई बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है।

दिवाली में बस कुछ ही दिन बचे हैं और दिवाली में सबसे जरुरी चीज मिठाई की दुकानें भी सजने लग गई है। दिवाली के दिनों में मिठाई का अच्छा-खास कारोबार भी होता है और ग्राहकों की बढ़ती मांग को देखते हुए मिलावटी मिठाई भी बेचना शुरू कर देते हैं, जिससे सेहत संबंधी कई बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है। मिलावटी मिठाइयां दिखने में तो वैसी ही होती है, लेकिन ये सेहत के लिए खतरनाक होती है। जानकारी के अभाव में हम यह पता भी नहीं कर पाते कि कौनसी मिठाई असली है और कौनसी मिठाई नकली है। आइए जानते हैं किस तरह नकली मिठाइयों को पहचाना जा सकता है।

मिठाई की ऐसे करें जांच- मिठाइयों की जांच करने के लिए आप दो मिठाईयों के अलग-अलग सैंपल लें और दोनों को अलग-अलग बाउल में गर्म पानी में डालें। इसके बाद अलग-अलग रंग के आयोडीन लें और इन मिठाई वाले बाउल में डाल दें। अगर गर्म पानी वाले बाउल में मिठाई घुलकर रंग बदलती है तो इसका मतलब मिठाई मिलावटी है और अगर रंग वैसा का वैसा ही रहता है तो मिठाई ठीक है।

इस दिवाली ATM से मिलेंगे सोने के सिक्के; नहीं लगाना पड़ेगा बाज़ार का चक्कर

रंग वाली मिठाई की ऐसे करें जांच- दिवाली में रंग वाली मिठाई भी बहुत अधिक मात्रा में बेची जाती है। कई मिठाइयों में ज्यादा रंग होता है तो वो देखते ही पहचान में आ जाती है, क्योंकि उनका रंग चटक लाल होता है। लेकिन सबसे ज्यादा मिलावटी रंग का खतरा पिस्ते की मिठाई में होता है। अगर लड्डू आदि का रंग बिल्कुल अलग लगे तो उसे लेने से बचे। वहीं थोड़ी सी मिठाई को दबाकर देखें और देखें कि रंग हाथ में तो नहीं लग रहा है और अगर आपके हाथ में रंग लग रहा है तो समझिए उसमें रंग मिला हुआ है। इसलिए जो मिठाई हल्के रंग की है तो वो ठीक है।

READ ALSO: दिवाली पर ड्राई फ्रूट्स खरीदने का मन बना रहे हैं तो पहले पढ़ लें ये बातें

चांदी के वर्क की पहचान- चांदी वर्क बनाने को लेकर भी कई खुलासे सामने आते रहते हैं। हाल ही में एक न्यूज चैनल ने दिखाया था कि चांदी के वर्क भेड़ की खाल के बीच कूटकर बनाए जाते हैं और वर्क में भी मिलावट होती है। असली वर्क की पहचान करने के लिए उसे हाथ से रगड़ें और अगर वर्क चांदी का होगा तो रगड़ते ही मिठाई से अलग हो जाएगा। अगर वर्क चांदी का नहीं होगा तो मिठाई में चिपका रहेगा। मिठाई में चिपका हुआ वर्क एल्युमीनियम का हो सकता है। इसलिए मिठाई खरीदते वक्त अच्छे से जांच कर देख लें और हो सके तो घर पर ही मिठाई तैयार कर लें।

READ ALSO: जानिए- कौनसा पटाखा है सेहत के लिए सबसे ज्यादा खतरनाक?

जनसत्ता की पूरी टीम की तरफ से आप सबको दिवाली और धनतेरस की हार्दिक शुभकामनाएं

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 27, 2016 4:18 pm

सबरंग