ताज़ा खबर
 

जरूरत से ज्‍यादा बढ़ जाए बुखार तो डॉक्‍टर के पास जाने से पहले आजमा सकते हैं ये घरेलू नुस्‍खे

हम आपको बुखार हटाने के कुछ ऐसे घरेलू नुस्खे बता रहे हैं जिनसे आप तेज बुखार को आसानी से नियंत्रण में ला सकते हैं।
अगर जब भी किसी को तेज बुखार हो तो उसे ज्यादा दवाइयां देने के बजाय उसके शरीर पर ठंडे पानी की पट्टियां करें।

इस बदलते मौसम से किसी भी शख्स को बुखार आना बहुत ही आम बात है और हर कोई बुखार होते ही सीधे डॉक्टर के पास जाता है। आज हम आपको बुखार हटाने के कुछ ऐसे घरेलू नुस्खे बता रहे हैं जिनसे आप तेज बुखार को आसानी से नियंत्रण में ला सकते हैं।

ठंडा कपड़ा लगाएं: अगर जब भी किसी को तेज बुखार हो तो उसे ज्यादा दवाइयां देने के बजाय उसके शरीर पर ठंडे पानी की पट्टियां करें। यानि एक कपड़े को ठंडे पानी में गीला करके मरीज के सिर और हाथ पर रखें, जिससे कि तापमान नियंत्रण में आ जाता है। ऐसा करते वक्त इसे बदलते रहना चाहिए। साथ ही मरीज को हल्के गुनगुने पानी से नहला भी सकते हैं।

तुलसी का काढ़ा तैयार करें: जब भी किसी को बुखार हो तो तुलसी का जरुर सहारा लें यह अंग्रेजी दवाइयों की तरह ही असरदार होती है। इसलिए तुलसी को उबालकर उसमें अदरक का रस मिलाएं और अच्छे से उबालें। उसके बाद उसमें शहद मिलाकर दिन में दो-तीन बार पीएं। आप तुलसी की चाय बनाकर पी सकते हैं।

लहसून भी बुखार के लिए असरदार दवा के रुप में काम करता है। लहसून की गर्म तासीर की वजह से शरीर से निकलता है और बुखार कम हो जाता है। लहसून का इस्तेमाल करने के लिए लहसून के एक टुकड़े को पीसकर उसे एक कप गर्म पानी में डाल दें और उसे उबलने दें। उसके बाद उसे धीरे-धीरे पीएं। ऐसा करने से कुछ ही देर में बुखार उतरने लगता है।

ज्यादा कपड़े न पहनें: अक्सर लोग बुखार आने पर मोटे-मोटे कपड़े पहन लते हैं जो बुखार में फायदे की जगह नुकसानदायक है | ऐसा करने से शरीर की गर्मी बाहर नहीं निकल पाती और बुखार जल्दी ठीक नहीं होता। अगर कभी ठंड लगे तो उस समय कम्बल या मोटी चादर ओढ़ लेनी चाहिए, लेकिन कम कपड़े पहनने चाहिए।

ठंडे कमरे में रहे: बुखार से राहत पाने के लिए यह भी आवश्यक है कि आप जिस कमरे या घर में हो वो ठंडा हो।  इसके लिए आप पंखा चला लें। घर ठंडा रखने से अच्छा महसूस होता है और इससे शरीर को भी ठंडा रखने में मदद मिलती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग