December 11, 2016

ताज़ा खबर

 

इस खास तरीके से ताली बजाने से होते हैं कई चौंकाने वाले फायदे

जब आप किसी के काम से खुश होते हैं या किसी का अभिवादन करना होता है तो आप ताली बजाते हैं। ताली बजाकर आप अपनी खुशी जाहिर करते हैं या अपनी मन की खुशी को बाहर निकालते हैं।

प्रेशर पॉइंट्स का आसानी से पता लगाया जा सकता है और केवल ताली बजाकर प्रेशर थेरेपी के फायदे उठाए जा सकते हैं।

जब आप किसी के काम से खुश होते हैं या किसी का अभिवादन करना होता है तो आप ताली बजाते हैं। ताली बजाकर आप अपनी खुशी जाहिर करते हैं या अपनी मन की खुशी को बाहर निकालते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं ताली बजाने से आप सिर्फ अपनी खुशी ही जाहिर नहीं करते हैं, बल्कि आप कई बीमारियों को भी अपने शरीर से दूर भगाते हैं। आज हम आपको बताएंगे ताली बजाने से हमारे शरीर को क्या-क्या फायदे होते हैं और किस तरह से ताली हमारे शरीर को फायदे पहुंचाती है।

केरली आयुर्वेद ग्रुप, दिल्ली के डॉ. राहुल डोगरा का कहना है कि हमारे शरीर में कुल 340 प्रेशर पॉइंट्स का पता चल सका है जिनमें से 29 हमारे हाथों में हैं। उनके मुताबिक इन प्रेशर पॉइंट्स का आसानी से पता लगाया जा सकता है और केवल ताली बजाकर प्रेशर थेरेपी के फायदे उठाए जा सकते हैं। ये प्रेशर पॉइंट्स शरीर के विभिन्न अंगो से सीधे जुड़े हुए हैं और इसीलिए ताली बजाकर हम दर्द से राहत पाने जैसे विभिन्न फायदे प्राप्त कर सकते हैं। वहीं ताली बजाने की एक थैरेपी क्लेपिंग थैरेपी के अनुसार ताली बजाने से कई फायदे होते हैं।

पंजाब के खेतों में अब भी जलाए जा रहे हैं फसल के अवशेष; धुआं बना विभिन्न राज्यों में प्रदूषण की वजह

ये है ताली बजाने का तरीका- इसके लिए नारियल का तेल या सरसो का तेल या दोनो को मिक्स करके अपनी हथोलियों पर लगाइए। इस तरह तेल त्वचा में समा जाएगा। अब मोजे और लेदर शूज पहनें ताकि शरीर से उत्पन्न होनेवाली ऊर्जा व्यर्थ न जाए। अब दोनों हाथों को सीधा और एक दूसरे के समानांतर रखें। हथेलियों को थोड़ा ढ़ीला रखें और हाथों की उंगलियां और हथेलियां एक-दूसरे को छूने का काम करें और ताली बजाएं। इससे आपके शरीर को एक दो नहीं बल्कि कई फायदे पहुंचते हैं। डॉ. डोगरा के मुताबिक इस थेरेपी के लिए सुबह का समय सबसे अच्छा है। सुबह-सुबह 20-30 मिनट तक ताली बजाने से आप स्वस्थ और सक्रिय रहेंगे। जैसा कि ताली बजाने से रक्त का प्रवाह अच्छा होता है। इससे रक्त धमनियों और शिराओं में मौजूद बैड कोलेस्ट्रॉल जैसी तमाम रूकावटों और गंदगी साफ हो जाती है।

इस तरह ताली बजाने के फायदे- इससे दिल और फेफड़ों से जुड़ी हुई अस्थमा जैसी समस्याओं में मदद मिलती है और पीठ, गर्दन और जोड़ों के दर्द से आराम मिलता है। वहीं ताली बजाकर गठिया रोग से भी बचा जा सकता है और लो ब्लड प्रेशर के मरीज भी इस थेरेपी की मदद ले सकते हैं। पाचनतंत्र की समस्याओं में भी क्लैपिंग थेरेपी का इस्तेमाल फायदेमंद साबित होता है। क्लैपिंग थेरेपी से बच्चों की कार्यक्षमता का विकास होता है और उन्हें पढ़ाई में भी सुधार होता है । जो बच्चे रोजाना ताली बजाते हैं उन्हें लिखने में भी कम परेशानी होती है और उनसे स्पेलिंग से जुड़ी गलतियां भी कम होती हैं। साथ ही ताली बजाने से बच्चों का दिमाग तेज होता है।

हेल्थ से जुड़ी खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 8, 2016 10:51 am

सबरंग