ताज़ा खबर
 

GYM में ये गलतियां करने से खुद को बचाएं ताकि हो परफेक्ट वर्कआउट

जानिए जिम में होने वाली कुछ गलतियों के बारे में जिन्हें आप बार-बार करते होंगे।
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर (Source: Thinkstock Images)

कसरत के शौकीन लोग हमेशा जिम जाना पसंद करते हैं लेकिन आपमें से न जाने कितने ही लोग जिम में कई तरह की गलतियां बार-बार दोहराते होंगे और उन गलतियों का आपको पता भी नहीं लगता होगा। जिम में वर्कआउट के दौरान हुई यह गलतियां न सिर्फ आपका वर्कआउट खराब करती हैं बल्कि आपको चोट भी पहुंचा सकती हैं। ऐसे में जानते हैं उन गलतियों के बारे में जिम होती हैं ताकि आप बेहतर वर्कआउट कर सकें।

वार्म अप- जिम में आप चाहे हेवी एक्सर्साइज करते हों या फिर लाइट, वार्म अप मिस करना अच्छा आइडिया नहीं होता। स्वाट्स, पुशअप्स, जम्पिंग जैक्स, ट्रेडमिल, साइरकलिंग कर वार्म अप करना अच्छा होता है। दरअसल वार्म अप से अपका ब्लड सर्क्युलेशन बढ़ता है और हार्ट रेट भी बढ़ता है जो हेवी और नॉन हेवी वेट्स एक्सर्साइज करने से पहले जरूरी होता है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि वार्म अप न करने से आप हेवी या फिर नॉन हेवी वर्कआउट के दौरान घायल हो सकते हैं।

रेस्ट कम करें- एक्सपर्ट्स का मानना है कि एक बार वर्कआउट शुरू करने के बाद उसे खत्म करके ही रुकें। इसका मतलब यह नहीं कि आप लगातार एक्सर्साइज करते रहें। जब आप वर्कआउट शुरू करें तो ध्यान रखें कि जो सेट्स आप कर रहे हैं उनमें 30 सेकेंड या फिर 1 मिनट से ज्यादा के समय का गैप न आए। कोशिश करें कि आप 1 घंटे के अंदर अपना वर्कआउट पूरा कर लें लेकिन अगर ऐसा नहीं होता है तो फिर खुद को ज्यादा पुश करने की कोशिश न करें। ऐसा करने से आप खुद को चोट पहुंचा सकते हैं। वहीं इसका एक उपाय यह भी है कि आप वर्कआउट के लिए वह समय चुने जिसमें भीड़ कम हो ताकि आपको मशीन का इस्तेमाल करने के लिए ज्यादा देर इंतजार न करना पड़े। इसके लिए सुबह में जिम जाना बेहतर विकल्प हो सकता है।

ऐसी गलती करने से बचें। देखें वीडियो (Source: Facebook)

हेवी लिफ्ट्स और ज्यादा कार्डियो एक साथ नहीं- कार्डियो या वार्म अप वर्कआउट से पहले जरूरी है लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि आपको ज्यादा वार्म अप करना जरूरी है। उदाहरण के लिए जिस दिन आप मिक्स वर्कआउट या फिर हेवी वेट लिफ्ट्स करेंगे उस दिन वार्म अप की टाइम लिमिट कम रखें। मिक्स वर्कआउट में आप अपर बॉडी की लगभग सारी कसरतें करते हैं जो टाइम टेकिंग होती हैं। ऐसे ही हेवी वेट लिफ्ट्स के लिए भी अच्छी स्ट्रेन्थ होना जरूरी है। ज्यादा वार्म अप आपके वर्कआउट को बिगाड़ सकता है या फिर आपको वर्कआउट के दौरान थका सकता है जिससे आप घायल भी हो सकते हैं।

शेड्यूल बदलते रहें- अमूमन सभी जिम ट्रेनर्स आपको एक से डेढ़ महीने के लिए वर्कआउट का एक शेड्यूल तैयार करके देते हैं। कोशिश करें कि आप यह शेड्यूल 1 से डेढ़ महीने के अंदर चेंज करवाते रहें और अपनी स्ट्रेन्थ के हिसाब से वर्कआउट करें। इससे आपकी स्ट्रेन्थ भी बढ़ेगी और आप बोर भी नहीं होंगे। वहीं अगर आप शेड्यूल नहीं बदलते तो सेट्स, वेट्स या फिर टाइम में बदलाव करें। इसके अलावा पूरे जिम का इस्तेमाल करने से बचें। इससे न सिर्फ आप दूसरों को परेशान करते हैं बल्कि खुद को भी थका देते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग