ताज़ा खबर
 

रोजाना अंगूर का सेवन करने से कम होता है ‘कैंसर’ का खतरा

अंगूर सेहत के लिए बेहद लाभदायक और काफी स्वादिष्ट फल होता है। तमाम पोषक तत्वों से भरपूर यह फल कई तरह की बीमारियों से बचने में हमारी मदद करता है।
अंगूर का सेवन करने से कोलोन कैंसर का खतरा भी काफी कम हो जाता है।

अंगूर सेहत के लिए बेहद लाभदायक और काफी स्वादिष्ट फल होता है। तमाम पोषक तत्वों से भरपूर यह फल कई तरह की बीमारियों से बचने में हमारी मदद करता है। इसमें फाइबर, प्रोटीन, तांबा, पोटैशियम, आयरन, विटामिन सी, के और बी 2 भरपूर मात्रा में पाया जाता है। अंगूर में पानी की काफी मात्रा पाई जाती है, जो शरीर को हमेशा हाइड्रेट रखने में मदद करती है। हाल ही में हुए एक शोध में यह बात भी सामने आई है कि अंगूर का सेवन करने से कोलोन कैंसर का खतरा भी काफी कम हो जाता है।

शोध के मुताबिक अंगूर के छिलके और उसके बीज में पाया जाने वाला रेज्वेराट्रॉल नाम का कंपाउंड हमारे शरीर में मौजूद कोलोन कैंसर के स्टेम सेल्स को खत्म करने में काफी मदद करता है। रेज्वेराट्रॉल एक शक्तिशाली एंटी ऑक्सीडेंट है जो उन तत्वों को बढ़ने से रोकता है जो कैंसर, दिल की बीमारी और अन्य कई तरह को रोगों को जन्म देते हैं। शोधकर्ताओं का कहना है कि रेज्वेराट्रॉल और अंगूर के बीज का मिश्रण कोलोन कैंसर के सेल्स को मारनें में काफी प्रभावी होता है।

रिसर्चर्स का कहना है कि कोलोन कैंसर के लिए लाभदायक इस कंपाउंड को क्लीनिकल टेस्टिंग के लिए भेज दिया गया है। अगर टेस्ट सफल रहा तो इसे दवाइयों में इस्तेमाल किया जाएगा, ताकि इसे कोलोन कैंसर से पीड़ित लोगों को आसानी से उपलब्ध कराया जा सके। शोधकर्ताओं ने बताया कि कैंसर स्टेम सेल्स खुद ही रिन्यूवल हो जाने और अपने स्टेम सेल को खुद ही मेंटेन करने की क्षमता रखते हैं। अगर हम अंगूर के बीजों और रेज्वेराट्रॉल का अलग-अलग सेवन करते हैं तो यह कैंसर स्टेम सेल्स के दबाव को रोकने में ज्यादा प्रभावी नहीं रहते, जबकि दोनों का मिश्रण इस दिशा में ज्यादा प्रभावी परिणाम देता है। चूहों के ऊपर किए गए इस शोध में यह पाया गया कि केवल अंगूर या उसके उत्पादों का सेवन करने मात्र से ही उनमें ट्यूमर का खतरा पचास प्रतिशत तक कम हो गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.