December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

कई बीमारियों को दूर करता है सिंघाड़ा, इसे खाने से होते हैं ये फायदे

आइए जानते हैं सेहत के लिए सिंघाड़े के क्या-क्या फायदे होते हैं।

सिंघाड़ा सूजन और दर्द में मरहम का काम करता है। शरीर के किसी भी अंग में सूजन होने पर सिंघाड़े के छिलके को पीस कर लगाने से आराम मिलता है।

इन दिनों आपको अपने आस-पास सिंघाड़े बिकते हुए नजर आ रहे होंगे, ये सिंघाड़े जितने खाने में स्वादिष्ट होते हैं उतने ही सेहत के लिए भी लाभदायक होते हैं। आपको यह शायद ही पता होगा कि यह सिंघाड़े आपकी एक-दो नहीं बल्कि कई दिक्कतें दूर कर सकता है। आइए जानते हैं सेहत के लिए सिंघाड़े के क्या-क्या फायदे होते हैं।

थायरॉइड की दिकक्त दूर करता है- ये तो आप जानते हैं कि थायरॉइड की दिक्कत आयोडीन की कमी की वजह से होता है और सिंघाड़ों में भरपूर मात्रा में आयोडीन होता है। इसलिए यह आपकी थायरॉइड संबंधी दिक्कत दूर कर देता है। साथ ही सिंघाड़े में विटामिन-ए, सी, मैंगनीज, थायमाइन, कर्बोहाईड्रेट, टैनिन, सिट्रिक एसिड, रीबोफ्लेविन, एमिलोज, फास्फोराइलेज जैसे पोषक तत्व होते हैं जो कि आपके शरीर के लिए बहुत लाभदायक है।

प्रेग्नेंट महिला के लिए फायदेमंद- गर्भावस्था में सिंघाड़े का सेवन करना माता और शि‍शु के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इससे गर्भपात का खतरा भी कम होता है। इसके अलावा सिंघाड़ा खाने से मासिक धर्म संबंधी समस्याएं भी ठीक होती हैं। यह बच्चे को आवश्यक तत्व प्रदान करता है और इसके लगातार सेवन से बच्चा सुंदर और स्वस्थ होता है।

ऊर्जा का अच्छा स्रोत- सिंघाड़े में कार्बोहाइड्रेट काफी मात्र में होता है। 100 ग्राम सिंघाडे में 115 कैलोरी होती हैं, जो कम भूख में पर्याप्त भोजन का काम करता है। यह एनर्जी सेल्स को एक्टिवेट करता है और खाने को एनर्जी में बदलने का काम करता है।

टॉन्सिल का इलाज करता है- इसमें मौजूद आयोडीन गले में होने वाले टॉन्सिल के इलाज में लाभदायक है। इसमें ताजा फल या चूर्ण खाना दोनों फायदेमंद होता है। सिंघाड़े को पानी में उबाल कर कुल्ला करने से भी आराम मिलता है। इसमें आयोडीन होता है, जो कि आपके गले के लिए ठीक होता है।

सूजन और दर्द में राहत- सिंघाड़ा सूजन और दर्द में मरहम का काम करता है। शरीर के किसी भी अंग में सूजन होने पर सिंघाड़े के छिलके को पीस कर लगाने से आराम मिलता है। यह एंटीऑक्सीडेंट का भी अच्छा स्रोत है। यह त्वचा की झुर्रियां कम करने में मदद करता है। यह सूर्य की पराबैंगनी किरणों से त्वचा की रक्षा करता है।

हेल्थ से जुड़ी खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

असम: काले जाूद के चक्‍कर में तांत्रिक ने दे दी चार साल की बच्‍ची की बलि

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 3, 2016 9:29 am

सबरंग