ताज़ा खबर
 

इन लोगों को सबसे ज्यादा काटते हैं मच्छर, ये हैं इसकी बड़ी वजह

आज हम आपको इसके पीछे के वैज्ञानिक कारणों के बारे में बता रहे हैं कि आखिर किसी एक खास शख्स को मच्छर क्यों काटते हैं और इसके पीछे क्या वजह है।
वैज्ञानिकों द्वारा किए एक रिसर्च में सामने आया है कि कुछ लोग मच्छरों के लिए मस्कीटो मैगनेट की तरह काम करते हैं और मच्छर इन खास लोगों को ज्यादा काटते हैं।

आपने कभी-कभी देखा होगा कि किसी एक शख्स को या आपको खुद को और लोगों के अपेक्षा ज्यादा मच्छर काटते हैं। कुछ लोग कहते हैं कि जिसका खून मीठा होता है उसको मच्छर काटते हैं, लेकिन आज हम आपको इसके पीछे के वैज्ञानिक कारणों के बारे में बता रहे हैं कि आखिर किसी एक खास शख्स को मच्छर क्यों काटते हैं और इसके पीछे क्या वजह है। वैज्ञानिकों द्वारा किए एक रिसर्च में सामने आया है कि कुछ लोग मच्छरों के लिए मस्कीटो मैगनेट की तरह काम करते हैं और मच्छर इन खास लोगों को ज्यादा काटते हैं।

‘ओ’ ब्लड ग्रुप वालों के लिए ज्यादा मुसीबत- साल 2004 में जर्नल ऑफ मेडिकल एंटोमोलोजी में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, जिन लोगों का ब्लड ग्रुप ‘ओ’ होता है उन पर अन्य ब्लड ग्रुप वाले लोगों की तुलना में मच्छर ज्यादा आकर्षित होते हैं। इस शोध के अनुसार ‘ओ’ ब्लड ग्रुप वाले लोगों पर सबसे ज्यादा फिर ‘ए’ ब्लड ग्रुप वाले उसके बाद ‘बी’ ब्लड ग्रुप वाले लोगों पर मच्छरों का कहर सबसे ज्यादा होता है। ‘एबी’ ब्लड ग्रुप वाले लोगों को सबसे कम मच्छर काटते हैं।

प्रेग्नेंट महिलाओं की ओर होते हैं आकर्षित- बच्चों और बूढों की तुलना में मच्छर प्रेग्नेंट महिलाओं को ज्यादा काटते हैं। साल 2004 में एनल्स ऑफ ट्रॉपिकल मेडिसिन एंड पैरासिटोलोजी में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक, प्रेग्नेंट महिलाओं को सामान्य की तुलना में ज्यादा मच्छर काटते हैं। इसका कारण यह बताया गया है कि मच्छर उन पर ज्यादा आकर्षित होते हैं जिनका मेटाबोलिज्म रेट ज्यादा होता है और वे ज्यादा कार्बनडाईऑक्साइड बाहर निकालते हैं और यह हम सभी जानते हैं कि प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं का मेटाबोलिज्म रेट सामान्य की तुलना में ज्यादा हो जाता है। इसीलिए गर्भवती महिलाओं को मच्छर ज्यादा काटते हैं।

READ ALSO: जानिए- क्या है डेंगू, चिकनगुनिया और सामान्य बुखार में अंतर

मोस्किटो मैगनेट जीन- आपको बता दें कि आपक जीन में ज्यादा मच्छरों के काटने का कारण छिपा है। जर्नल इन्फेक्शन जेनेटिक्स एंड एवोलूशन की ओर से साल 2013 में प्रकाशित एक रिचर्स के अनुसार, ह्यूमन ल्यूकोसाईट एंटीजन (HLA) नामक जीन ही मच्छरों के काटने के लिए जिम्मेदार होता है और इन जीन का प्रभाव हमारे शरीर की महक पर पड़ता है जिस कारण से मच्छर ज्यादा आकर्षित होते हैं। इसके अलावा मच्छर कुछ खास जगहों पर जैसे कि सिर, हाथ और पैर पर ही ज्यादा काटते हैं।

देखें: देश दुनिया की बड़ी खबरें

हेल्थ से जुड़ी खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 17, 2016 12:15 pm

  1. No Comments.
सबरंग