ताज़ा खबर
 

गुलशन ग्रोवर को साथ ले ऋषि कपूर को पीटने निकले संजय दत्त तो इन्होंने किया था बचाव

उन दिनों संजय दत्त और टीना मुमीन के अफेयर की खबरें सुर्खियों में थी और टीना, संजय दत्त के साथ कॉलेज में भी पढ़ती थीं।
एक पार्टी के दौरान ऋषि कपूर के साथ संजय दत्त।

संजय दत्त और ऋषि कपूर, बॉलीवुड के दो ऐसे नाम हैं जिनकी गिनती फिल्म इंड्रस्टी के उस्तादों में होती है। दोनों ही अपने जमाने के मशहूर एक्टर्स के बेटे हैं। लेकिन एक समय था जब संजय दत्त, ऋषि कपूर से इतने गुस्सा हो गए थे की उन्हें पीटने के लिए गुलशन ग्रोवर को साथ लेकर ऋषि कपूर के घर पहुंच गए थे। जी हां और नीतू सिंह ने ऋषि कपूर को बचा लिया था। यकीन नहीं होता तो चलिए आज हम बताते हैं आखिर क्या था पूरा माजरा।

दरअसल, यह बात उस वक्त की है जब साल 1981 में आई फिल्म ‘रॉकी’ से संजय दत्त ने बॉलीवुड में कदम रखा ही था। और इससे पहले ऋषि कपूर ने साल 1980 में आई फिल्म ‘कर्ज’ में काम किया था। हम इन दोनों फिल्मों में एक चीज कॉमन थी और वह है फिल्म की एक्ट्रेस। दोनों फिल्मों में टीना मुमीन। उन दिनों संजय दत्त और टीना मुमीन के अफेयर की खबरें सुर्खियों में थी और टीना, संजय दत्त के साथ कॉलेज में भी पढ़ती थीं।

संजय दत्त को कर्ज फिल्म में टीना के साथ ऋषि कपूर के रिश्ते पर शक होने लगा था। संजय दत्त को लगा की ऋषि कपूर, टीना मुमीन को चाहने लगे हैं। संजय दत्त को टीना मुमीन से किसी की भी नजदीकियां बर्दाश्त नहीं थी और इसी वजह से ही संजय दत्त ने ऋषि कपूर को पीटने का प्यान बनाया। उन्होंने अपने साथ पढ़ने वाले गुलशन ग्रोवर को साथ लिया और गुस्से में तिलमिलाते हुए ऋषि कपूर के घर की तरफ निकल पड़े। लेकिन संजू बाबा को नीतू सिंह मिल गईं।

नीतू ने संजू बाबा से पूरा मामला बताने के लिए कहा तो संयज दत्त ने सारी बातें नीतू को बताई। नीतू ने संजय दत्त को समझाया कि ऐसा कुछ नहीं है। वो दोनों सिर्फ दोस्त हैं। कहते हैं संजू बाबा उस वक्त नशे में भी थे। कैसे भी करके नीतू सिंह ने संजय दत्त को मना लिया और वापस घर भेज दिया।

इस घटना के कुछ महीनों बाद नीतू सिंह और ऋषि कूपर की शादी हो गई। तब जाकर संजय दत्त के दिल मे तसल्ली हुई। पर ड्रग लेने की आदत की वजह से बाद में टीना मुनीम संजू बाबा को छोड़कर चली गईं। अभिनेता ऋषि कपूर ने इस वाकये का जिक्र अपनी ऑटो बायोग्राफी में किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.