ताज़ा खबर
 

शाहरुख खान को देखने नहीं किसी से मिलने गया था ‘लाठीचार्ज’ में मारा गया शख्स

अधिकारियों के मुताबिक, जैसे-जैसे ट्रेन आगे बढ़ रही थी लोग भी उसके साथ चल रहे थे। भीड़ बेकाबू होने के दौरान एक शख्स की मौत हो गई, वहीं भीड़ को नियंत्रित करने के लिए तैनात किए गए दो पुलिसवाले भी घायल हो गए।
Author नई दिल्ली | January 24, 2017 12:36 pm
मारे गए शख्स के परिवार के लोग।

गुजरात के वडोदरा रेलवे स्टेशन पर बॉलीवुड एक्टर शाहरुख खान को देखने के लिए उमड़ी भीड़ इतनी बेकाबू हो गई कि इसमें एक शख्स की मौत हो गई। इस मामले में शाहरुख खान ने आज मीडिया से बातचीत में शख्स की मौत पर शोक व्यक्त किया उन्होंने कहा- खुदा की मर्जी के आगे कोई कुछ नहीं कर सकता। बहुत ही दुखद बात है। उनकी आत्मा को शांति मिले। उधर मारे गए शख्स के परिवार की ओर से ऐसा बयान आया है वह वहां शाहरुख को देखने नहीं बल्कि किसी से मिलने गए थे, लेकिन पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया और वह गिर पड़े। पुलिस ने बताया कि शख्स स्टेशन पर शाहरुख को देखने के लिए भीड़ काफी ज्यादा हो गई थी और इसी वजह से लाठीचार्ज करना पड़ा। एक्टिविस्ट रंजना कुमारी ने शाहरुख द्वारा इस तरह के पब्लिसिटी स्टंट की निंदा करते हुए कह कि लोगों को जिम्मेदारी लेनी चाहिए। खास तौर से बॉलीवुड स्टार्स को इस बात की जिम्मेदारी लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि यह सब एक पब्लिसिटी स्टंट से ज्यादा कुछ नहीं था।

गौरतलब है कि बॉलीवुड स्टार शाहरुख खान 25 जनवरी को रिलीज होने जा रही उनकी फिल्म ‘रईस’ के प्रमोशन के लिए ‘अगस्त क्रांति’ ट्रेन से मुंबई से दिल्ली की यात्रा पर निकले। वडोदरा स्टेशन पर शाहरुख को देखने के लिए हजारों फैन्स की भीड़ आई थी। अधिकारियों के मुताबिक, ट्रेन सोमवार रात करीब 10.30 बजे बडोदरा स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर 6 पर पहुंची और 10 मिनट तक रुकी। रेलवे पुलिस ने बताया कि शाहरुख की एक झलक पाने के लिए बड़ी संख्या में लोग यहां आए थे। यह भीड़ उस समय बेकाबू हो गई जब ट्रेन स्टेशन से रवाना होने लगी। शाहरुख को देखने की कोशिश कर रहे लोग एक दूसरे के ऊपर गिरने लगे। भीड़ को काबू करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा।

अधिकारियों के मुताबिक, जैसे-जैसे ट्रेन आगे बढ़ रही थी लोग भी उसके साथ चल रहे थे। भीड़ बेकाबू होने के दौरान एक शख्स की मौत हो गई, वहीं भीड़ को नियंत्रित करने के लिए तैनात किए गए दो पुलिसवाले भी घायल हो गए। स्थानीय अधिकारियों के मुताबिक, मृतक की पहचान फरीद खान पठान के रूप में हुई है जो स्थानीय नेता था। शाहरुख और उनकी टीम का शाही अंदाज में मुंबई सेंट्रल स्टेशन पर स्वागत किया गया और पूरे जोर शोर के साथ अभिनेता को अगस्त क्रांति राजधानी एक्सप्रेस में बिठाया गया। शाहरुख इस साल फिल्म उद्योग में अपने 25 साल पूरे कर रहे हैं। शाहरुख पहली बार दिल्ली से मुंबई, ट्रेन से ही पहुंचे थे। फिल्म के निर्देशक राहुल ढोलकिया और निर्माता रितेश सिधवानी भी सफर में उनके साथ हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.