ताज़ा खबर
 

ट्विंकल खन्ना ने यूपी सीएम योगी आदित्य नाथ को घेरा, कहा- उन्हें “गैस रिलीजिंग आसन” करने चाहिए

बॉलीवुड एक्ट्रेस-लेखक ट्विंकल खन्ना ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर हमला करते हुए कहा- उन्हें ऐसे आसन करने की जरूरत है जो उनकी गैस निकालने में मदद कर सकें।
Author नई दिल्ली | March 25, 2017 15:16 pm
आर्टिकल में ट्विंकल ने लिखा कि जब उन्होंने एमएसजी द मैसेंजर का ट्रेलर दिखा तो वह उससे इतना ज्यादा प्रभावित हो गईं कि उन्होंने खुद का एमएसजी क्लब खोल दिया।

बॉलीवुड एक्ट्रेस-लेखक ट्विंकल खन्ना ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर हमला करते हुए कहा- उन्हें ऐसे आसन करने की जरूरत है जो उनकी गैस निकालने में मदद कर सकें। ट्विंकल ने योगी के लिए यह बयान उनके महिला सुरक्षा वाले बयान के बाद दिया। इंडिया टुडे वुमेन सम्मिट में ट्विंकल ने कहा- वह फैशन बदल रहे हैं। बल्कि मैंने तो यह भी ट्वीट किया है कि एशियन पेंट्स को इस सीजन के लिए एक नए रंग की घोषणा कर देनी चाहिए। आकर्षक भगवा और वह भी इस टैगलाइन के साथ- ऑरेंज अब नया ब्राउन है। मालूम हो कि महिला सशक्तिकरण और फेमिनिज्म का मुद्दा ट्विंकल के दिल के काफी करीब है जिन्होंने हाल ही में अपने कॉलम में काम करने की जगहों पर महिलाओं का शोषण किए जाने को लेकर लेख लिखा था।

ट्विंकल के पति अक्षय कुमार ने इवेंट में उनके द्वारा कही गई बातों का समर्थन किया है। हाल ही में अरुणाभ के एक अखबार को दिए बयान की तीखी आलोचना करते हुए टविंकल ने लिखा है कि कामकाजी जगहों पर “सेक्सी” शब्द का प्रयोग तभी किया जा सकता है जब लड़की स्ट्रीपर हो और आप उसके पिंप (दलाल) हों और स्टेज पर जाने से पहले आप उसका उत्साह बढ़ाना चाहते हों। अरुणाभ ने एक अखबार से कहा था कि वो हेट्रोसेक्सुअल हैं और उन्हें कोई लड़की सेक्सी लगती है तो वो उसे सेक्सी कहते हैं और क्या किसी महिला की तारीफ करना गलत है?

ट्विंकल ने अरुणाभ के इस कमेंट पर प्रतिक्रिया देते हुए अपने अपने नियमित ब्लॉग में लिखा, “वो बेगुनाह है या गुनहगार ये वक्त बताएगा लेकिन उसके नाम से आए कमेंट से खतरे की घंटी सुनायी देती है। वैसे ही जैसी किसी नेता की सायरन वाली कार लाल बत्ती की परवाह किए बगैर भीड़ भरे रास्तों पर जबरदस्ती घुसती जाती है क्योंकि उसे लगता है कि वो खास है और नियम-कानून उसके लिए नहीं दूसरों के लिए हैं।” टविंकल ने तहलका पत्रिका के संस्थापक तरुण तेजपाल और टेरी के प्रमुख आरके पचौरी के उदाहरण देकर भी यौन शोषण का मुद्दा उठाया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    Amit patel
    Mar 26, 2017 at 9:54 am
    Ye film industry Vale PTA nahi Kya samjhte Hai ye samjhte Hai ki samaj ko jeena sikhate Hai ,en salo ki khud wife , family sabhali nahi jati ,esliye salo sirf nachh ,game per Shyam Dena chahiye
    (0)(0)
    Reply