ताज़ा खबर
 

एक्ट्रेस टिस्का चोपड़ा ने शेयर किया कास्टिंग काउच का अनुभव, कहा- डायरेक्टर लुंगी पहन सामने सोफे पर बैठा था…

निर्देशक ने मुझसे कहा शाम को मेरे रूम पर आना साथ में डिनर करेंगे और स्टोरी पर चर्चा करेंगे।
Author नई दिल्ली | August 4, 2016 22:00 pm
अभिनेत्री टिस्का चोपड़ा ने कास्टिंग काउच पर अपने अनुभव साझा किया है। (pic youtube video grab)

अभिनेत्री टिस्का चोपड़ा ने कास्टिंग काउच पर अपने अनुभव साझा किया है। एक यूट्यूब चैनल स्टोरीटेलर को दिए एक इंटरव्यू में टिस्का ने कह, ” मेरी पहली फिल्म रिलीज हो चुकी थी और मैं नहीं जानती थी कि अब काम कहां से मिलेगा। मैं दो बार अपने घर भी हो आई थी लेकिन मेरे पास काम नहीं थी। तभी मुझे एक बेहद मशहूर निर्माता निर्देशक का कॉल आया। उन्होंने कहा तुम मुझ से क्यों नहीं मिलती मैं एक फिल्म की कास्टिंग कर रहा हूं। मैं वहां पहुंची उसने मुझे देखकर कहा कि हील्स में कैसे चलते हैं यह तुम्हें सिखने की जरुरत है।”

इसके बाद टिस्का उसके निर्देशक के साथ काम करने का अनुभव साझा करती हुई बताती हैं कि जब मैंने अपने दोस्तों को बताया कि मुझे इस फिल्म में रोल मिला है। तो मेरे दोस्तों ने कहा कि तुम उसके साथ काम कर रही हो। मैंने कहा हां मैं कर रही हूं तो उन्होंने कहा कि तुम जानती हो उसके साथ काम करना मतलब शूट के दौरान उसकी खास बनकर रहना होगा। मैंने कहा मुझ इस बारे में जानकारी नहीं है। मैं रात को सोच रही काम तो करना है यार लेकिन कैसे करुंगी काम तो मैंने सोचा की उसकी पत्नी से दोस्ती कर लेती हूं। तो मैंने अपना मन बनाया और मुंबई में शूटिंग शुरू हुई तो सब ठीक चल रहा था। इसके बाद आउटडोर शुटिंग की बात आई। एक ही होटल की एक ही फ्लोर पर हमारे रूम थे। जैसे-जैसे ही शूटिंग आगे चली सब कुछ ठीक चल रहा था। तीसरे दिन हमने कुछ अंतरंग सीन किए क्योंकि हीरो नहीं था तो उसने हीरो की शर्ट पहनी और शूटिंग की और बाद में मुझ से कहा शाम को मेरे रूम पर आना साथ में डिनर करेंगे और स्टोरी पर चर्चा करेंगे।

तो अब सब मेरे सामने था। बाकी की सारी क्रू ने बाहर डिनर खाने का प्लान बनाया था। तो मैंने एक प्लान बनाया एक बड़ा सा बुके खरीदा चॉकलेट खरीदी और दरवाजा खटखटाया तो वो महरूम रंग की लुंगी पहने हुए था। उसने  मुझ से अंदर आने के कहा तो अंदर गई मैंने उसे चॉकलेट दी और बुके दिया मैंने उसे धन्यवाद दिया और वो चौंक गया उसे ऐसे व्यवहार की उम्मीद नहीं थी। तभी फोन बजा वो उसका बेटा था। मैंने होटल स्टॉफ से कहा था कि मेरे रूम के सारे कॉल उसके रूम पर शिफ्ट कर दे तो उसका बेटा मुझ से पूछ रहा था डिनर के लिए बाहर चलने के लिए जैसा की क्रू ने पहले से प्रोग्राम बनाया था तो मैंने उससे कहा कि मैं सर के रूम में हूं और स्टोरी पर चर्चा कर रही हूं। इसके बाद मैंने पूछा सर 10 मिनट लगेंगे …15 मिनट काफी रहेंगे। इसके बाद पांच से छह कॉल आ गए और उसके बाद उनका फितूर उतर गया। हमने फिल्म पूरी की और वापस आ गए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग