December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

कुछ रंग प्यार के ऐसे भी 21 नवंबर फुल एपिसोड: देव के बर्थडे के दिन हुई सोना से लड़ाई

Kuch Rang Pyar Ke Aise Bhi Full Episode: देव के बर्थडे को लेकर सोना और ईश्वरी दोनों अपनी तरफ से सरप्राईज प्लान कर रहे हैं। उसी दिन सोना और देव के बीच किसी बात को लेकर लड़ाई हो जाती है

देव के बर्थडे पर सोना से हुई उसकी लड़ाई

‘सोनी टीवी’ पर प्रसारित होने वाले शो ‘कुछ रंग प्यार के ऐसे भी’ में आपने देखा कि ईश्वरी, अपने भाई से देव के जन्मदिन के अवसर पर उसके बचपन की बातें शेयर करती है। मामाजी कहते हैं कि वो देव को रात के बारह बजे सरप्राईज करें। इधर सोना, देव से पूछती है कि मां क्या हमेशा उनके बर्थडे पर ऐसे ही एक्साइटेड होती हैं। देव कहता है कि उनके जन्म के बाद मां काफी खुश हुई थीं। सोना कहती है कि इस बार वे मां के साथ टाइम बितायेंगे और उन्हें खुश रखेंगे। सोना कहती है कि वो उसेक बर्थडे पर कुछ स्पेशल करना चाहती है। वो रात के समय में उसके साथ बाहर समय बिताना चाहेगी। देव को अपनी जिम्मेदारियों के लिए इंडिपेंडेंट देखकर सोना बहुत खुश होती है। वो देव को समय पर ऑफिस से घर आने को कहती है। वो कहती है कि वो अपनी मां के घर जाएगी और रात दस बजे वो उनसे मिलेगी। इधर ईश्वरी भी देव की जन्मदिन की तैयारी कर रही है। वो उसके बचपन के खिलौनों को निकालती है ताकि वो उसे दिखा सके और उसके बचपन की यादें ताजा करा सके। वे अपने सरप्राईज प्लान को सीक्रेट रखना चाहती है लेकिन देव की बहन को भी इस बात का पता चल जाता है।

खाने की टेबल पर सोना की गलती से देव की शर्ट पर सब्जी गिर जाती है। सोना उसे जल्दी से धो लेने को कहती है। निकिता के कहने पर सोना कहती है कि वो काफी बदल गए हैं और अब अपना काम खुद करने लगे हैं। दूसरी तरफ ईश्वरी, देव से कहती हैं कि सोना ने सही कहा कि शर्ट जल्दी साफ कर लेने से दाग साफ हो जायेंगे। मामीजी, सोना से कहती है कि वो देव से घर पर सारे काम करवाना चाहती है। वो उसे अपनी मां से अलग करवाना चाहती है। सोना कहती है कि ऐसा कुछ नहीं है क्योंकि वो बस देव को इंडिपेंडेंट बनाना चाहती है।

देव, मां से कहता है कि वो सारे काम खुद से करना चाहता है। ईश्वरी उसे कहती है कि वो उसकी चिंता न करे। वो उसका कमरा और आलमीरा सोना के आने से पहले साफ कर देगी। सोना ये सारी बातें सुन लेती है। और गुस्सा होकर वहां से चली जाती है। देव जाकर सोना से माफी मांगता है। सोना कहती है कि उसे कम से कम ये बता देना था कि वो अपने काम खुद से नहीं कर से सकते हैं उन्हें मां के पास जाने की क्या जरूरत थी। वो कहती हैं कि जब वो बदल नहीं सकते तो उन्होंने उससे झूठ क्यों कहा। सोना कहती है कि वो हमेशा मम्माज बॉय बन कर ही रहेंगे। यहां देव और सोना के बीच लड़ाई हो जाती है, तभी वहां ईश्वरी आ जाती है और उन दोनों की लड़ाई सुन लेती हैं। वो सोना से इस बारे में पूछती हैं।

Read Also: कुछ रंग प्यार के ऐसे भी 14 नवंबर फुल एपिसोड: सोना के मां-पापा के करीब हो रहे देव से परेशान हुई ईश्वरी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 21, 2016 10:20 pm

सबरंग