ताज़ा खबर
 

कुछ रंग प्यार के ऐसे भी 19 जून 2017 फुल एपिसोड: देव की मां इश्वरी को भड़काने की कोशिश, दिया करारा जवाब

Kuch Rang Pyar Ke Aise Bhi Full Episode: इश्वरी को भड़काने की कोशिश करती है देव की मामी, पर इश्वरी करारा जवाब अपनी भाभी को चुप करा देती है।
Kuch Rang Pyar Ke Aise Bhi: देव और सोनाक्षी आने लगे हैं करीब।

देव और सोनाक्षी एक दूसरे को प्रोपोज करने के बाद घर आते है। देव ये सोचता हुआ चल रहा होता है कि जो हुआ वो कोई सपना नहीं उसकी जिदंगी का सच है, साथ ही अपने घर को देखता हुआ कहता है कि अब उसके घर में फिर से रौशनी आ जाएगी, ये घर वैसा ही हो जाएगा जैसे इसे होना चाहिए। इस घर में फिर तुमी तुमी की आवाज गूंजेगी। वहीं दूसरी तरफ सोनाक्षी ये सोचते हुए चल रही होती है कि देव जब उसकी जिंदगी से गया था उसकी जिंदगी कैसे बदल गयी थी आज फिर उसकी जिंदगी बदल रही है और वो बहुत खुश होकर कहती है कि वो सिर्फ और सिर्फ देव की है। वहीं देव कहता है कि अब सोनाक्षी घर वापस आ जाएगी। देव की मां दूर से उसे देख कर खुश होते हुए अपने भाई से कहती है कि देव अब सही मायने में घर वापस आया है। देव के मामा अपनी बहन से कहते हैं कि देव को सोनाक्षी तो मिली ही उसने अपने आपको भी पा लिया है। हम इस देव को देखने के लिए तरस गए थे और ये सब सोनाक्षी की वजह से हुआ है।

इश्वरी देव के पास आती है और अपनी खुशी जाहिर करती है। पूरा परिवार देव की खुशी देखकर खुश होता है। एलेना कहती है बहुत खुश है क्योंकि उसकी बहन कई सालों बाद वापस आ रही है, देव इस पर कहता है कि सिर्फ वो अपनी बहन के लिए ही खुश है अपने भाई के लिए नही क्या? इस पर एलेना अपने खुशी के आंसू पोंछते हुए कहती है कि वो उसके लिए भी बहुत खुश है।

देव गोलू को घर की सारी महिलाओं की खुशी की जिम्मेदारी देता है। इसके बाद देव मामाजी को कहता है कि अब सेलिब्रेशन होना चाहिए। मामाजी भी हां करते हैं।

सोना अपने घर आती है और देखती है कि घर की सारी लाइट्स बंद हैं, सभी लोग उसको एक साथ चिल्ला कर सर्प्राइज करते हैं। सोनाक्षी खुश होती है। आशा पूछती हैं कि वो अब उसे क्या बुलाएं। मिस सोनाक्षी बोस या कुछ और तभी सोनाक्षी जल्दी से कहती है मिसेज देव दीक्षित। आशा कहती हैं कि वो जानती थी पर उससे सुनना चाहती थी। सभी बहुत खुश होते हैं।

यहां देव के घर में इश्वरी खुशी से रसोई साफ कर रही होती है क्योंकि वो जानती है कि सोना के आने पर उसे पता लगेगा कि वो ये मिठाई और तेल वाला खाना खाती है तो वो बहुत नाराज होगी। जीकेबी इश्वरी को भड़काने की कोशिश करती है कि कैसे जब सोनाक्षी पहले आई थी तो देव सिर्फ उसका हो गया था। इश्वरी इसका बहुत अच्छा जवाब बिना भड़के हुए देती है कि उसने पहले गलती की थी इसी के कारण देव की खुशियों को चोट पहुंची थी पर अब ऐसा नहीं होगा।

जीकेबी अपने बेटे विक्की के कमरे में जाती है उसे शांत करने के लिए क्योंकि वो सोनाक्षी के घर आने से बिल्कुल भी खुश नहीं होता। गुस्से में कमरे का सामान फेंकता है क्योंकि उसे लगता है कि देव अपने सब कुछ सोनाक्षी के नाम कर देगा और जो उसने सोचा था कि उसे मिलेगा पर अब उसका प्लान फेल हो रहा है। विक्की कहता है कि वो ये सब बर्दाश नहीं करेगा। इसके लिए अब वो कोई छोटा खेल नहीं खेलेगा कुछ बड़ा प्लान करेगा जिससे देव से अपना हिस्सा छीन लेगा।

देव और सोना एक दूसरे को फोन मिला रहे होते हैं इसलिए उनका फोन बिजी जाता है। फिर जब उनका फोन मिलता है तो पहले वो एक साथ कहते हैं कि बिजी हो.. फिर कहते हैं कि किससे बात कर रहे थे… इसके बाद थोडा रूक कर दोनों प्यार से बात करने लगते हैं। अगले दिन सोना और देव निशा के माता-पिता से मिल कर उनसे माफ़ी मांगते हैं। इसपर निशा के माता-पिता गुस्सा होकर कहते हैं कि इतना अगर तुम लोगों को साथ ही रहना था तो इतना बड़ा ड्रामा करने की क्या जरुरत थी। उनकी वजह से निशा को बहुत चोट पहुंची है। निशा आकर अपने माता-पिता को रोकती है। सोना निशा के पास जाकर उसे शुक्रिया कहती है क्योंकि उसी की वजह से उसे अपनी गलती का अहसास हुआ और आज उसका परिवार पूरा हो पाया है। निशा भी उन्हें गुड लक विश करती है।

सोना की मां आशा बीजोय को देव को फोन करने को कहती है। बीजोय पहले मानते नहीं हैं फिर कहते हैं कि उन्होंने कभी देव से ठीक से बात नहीं की है। आशा कहती है कि उन्हें इस तरह से नही करना चाहिए। अगर वो इस रिश्ते में एक कदम बढ़ेंगे तो देव दस कदम बढ़ेगा। तुम दोनों एक दूसरे की कंपनी बहुत एन्जॉय करोगे। इस पर बीजोय कहता है कि उसकी कंपनी हर कोई एन्जॉय करता है तो आशा मुस्कुरा कर कहती है कि इसका बेहतर उदाहरण वो खुद है।

इश्वरी मामाजी और जीकेबी को खाने की टेबल पर बैठाती है और रसोई में कुछ बना रही होती है। जीकीबी अपनी टूटी-फूटी अंग्रेजी में मामाजी से पूछती है की जीजी ने उन्हें यहां क्यों बैठाया है। मामाजी मजाक में हाथ जोड़ कर कहते हैं कि तुम अपनी इस अंग्रेजी से लोगो को मुक्ति दो, हम पर दया करो। इतने में इश्वरी उन्हें सूप और सलाद लाकर देती है। इस पर मामजी कहते हैं कि बहु की आने की खुशी में तुम्हे हमे जलेबी और गुलाबजामुन खिलाना चाहिए पर तुम हमे डाइट करवा रही हो। इश्वरी कहती है की सोना कितना डाइट का ध्यान रखती है, इसलिए उसने ये सब बनाया है। मामाजी कहते हैं की वो सोना से भी ऐसे सलाद बना कर खिलाने को कहेंगे। घर में बहुत ही खुशी का माहौल है।

सोना और देव निशा के घर से आकर गाड़ी में होते हैं। देव वहां सोना का हाथ पकड़ने के लिए सोचता है तो सोना उसका हाथ थाम लेती है। इस पर देव कहता है कि वो एक अंग्रेजी फिल्म के तीनएजर जैसा बर्ताव कर रहा है और फिर उसे आई लव यू कहता है। सोना इस पर कहती है कि उसे सोचने की जरूरत नही है उस पर उसका अधिकार हमेशा के लिए है जैसे पहले हुआ करता था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग