ताज़ा खबर
 

रुह कंपा देगी दीपिका और करीना की स्‍टंटविमन की कहानी, 15 की उम्र में शादी फिर शराबी पति का टॉर्चर

बॉलीवुड की कामयाब स्‍टंटविमेन में शुमार गीता ने एक यूट्यूब वीडियो के जरिए अपने संघर्ष की कहानी लोगों के सामने रखी है।
Author नई दिल्ली | June 2, 2016 11:43 am

चेन्नई एक्सप्रेस में दीपिका और सिंघम में करीना के जबरदस्त स्टंट सीन देखकर कई लड़कियां बॉलीवुड में स्‍टंटवि‍मेन बनने का ख्‍वाब पालती हैं। लेकिन क्‍या आपको पता है कि इन खूबसूरत अभिनेत्रियों ने यह शानदार स्‍टंट किससे सीखे हैं? अब तक आपने स्टार्स के मेकअप, ड्रेस डिजाइनर के बारे में बहुत पढ़ा होगा, लेकिन हम आपको महिला स्‍टंटवि‍मेन के बारे में बताते हैं, जिन्होंने मलाइका अरोड़ा, परिण‍ीति चोपड़ा जैसी अभिनेत्रियों को स्‍टंट सिखाए हैं।

Also Read: Celeb B’day: 45 साल के हुए मैडी उर्फ माधवन, जानिए साउथ फिल्मों के Superstar की कैसे हुई B’town में एंट्री

इन सभी अभिनेत्रियों को ट्रेनिंग देती हैं गीता टंडन। हाल ही में कल्‍चर मशीन का वुमन लाइफस्टाइल यूट्यूब चैनल- ब्लश का नया वीडियो तेजतर्रार गीता टंडन की बेहद प्रभावी और प्रेरक कहानी बयां करता है। इस वीडियो में गीता टंडन संघर्ष के उन दिनों के बारे में बता रही हैं जिनके बारे में कोई नहीं जानता।  आज भले ही गीता एक कामयाब स्टंटवि‍मेन में से एक हैं, लेकिन इस मुकाम तक वे कैसे पहुंची, ये वीडियो वह कहानी बयां करता है। 

‘चेन्नई एक्सप्रेस’ में दीपिका पादुकोण और ‘सिंघम’ में करीना कपूर खान के लिए स्टंट कर चुकीं गीता, रि‍यल लाइफ में भी किसी हीरो से कम नहीं हैं। एक सामान्य से परिवार में जन्मीं गीता की शादी 15 साल की उम्र में ही हो गई थी। इस दौरान उनकी जिंदगी किसी नर्क से कम नहीं थी, लेकिन उन्होंने खुद को कमजोर नहीं होने दिया और खुद को एक काबिल महिला बनाया। उनकी सास हमेशा उनकी बेइज्‍जती करनी थी, पति रोज नशे में गाली-गलौज के साथ बलात्‍कार करता। गीता ने इन सबके खिलाफ आवाज उठाई। वह अपने बच्चों को लेकर वहां से भाग गईं। गीता अपने पति की आदर्श बीवी बनना चाहती थीं लेकिन शादी उनके लिए अपमान का घूंट बनकर रह गई।

Also Read: दूसरी बार मां बनी जेनेलिया, बड़े बेटे रियान की क्यूट Photos शेयर कर रितेश ने बयां की खुशखबरी 

एक गरीब और जवान लड़की के लिए कमाई का आसान जरिया था- प्रॉस्टिट्यूशन, लेकिन उन्होंने कभी खुद को उस रास्ते पर नहीं जाने दिया। गीता ने घरों में झाड़ू-पोछा करके बच्‍चों को पालना शुरू किया। एक दिन गीता को स्‍टंटविमेन की नौकरी के बारे में पता चला। बिना किसी ट्रेनिंग के सिर्फ पैसों के लिए गीता ने नौकरी ज्‍वाइन कर ली।

चूंकि गीता को स्‍टंट के बारे में कुछ भी नहीं पता था, इसलिए वह कई बार चोटिल भी हुईं मगर हार नहीं मानी। सालों तक फिल्म इंडस्ट्री में संघर्ष करने के बाद गीता आज बॉलीवुड की एक कामयाब स्टंटवि‍मेन हैं और देश की पहली महिला एक्शन डायरेक्टर बनना चाहती हैं।

Also Read: मॉडल को महंंगा पड़ा Instagram पर राष्ट्रपति को लेकर पोस्ट करना, मिली 14 माह तक जेल में रहने की सजा

गीता की कहानी ना केवल सबको प्रोत्साहित करती है बल्कि यह भी बताती है कि अगर कोई भी हार ना मानकर आगे बढ़ता रहे तो वो उसे हासिल कर सकता है, जो वह हासिल करना चाहता है।

गीता नाम की इस शार्ट फिल्म में उनके जीवन की छोटी सी कहानी दिखाई गई है। इसमें बताया गया कि कैसे वह घरेलू हिंसा से निपटती हैं, एक अकेली मां के रूप में अपने दो बच्चों का पालन-पोषण करती हैं और साथ ही एक सफल करियर बनाती हैं। गीता की कहानी न केवल दिल को छू जाने वाली है, बल्कि प्रेरक भी है। इससे यह भी प्रमाणित होता है कि आप किसी ‘मिशन’ पर निकली मां की क्षमताओं को कमतर नहीं आंक सकते। लेकिन आज गीता आम महिलाओं की जिंदगी से ना सिर्फ कई कदम आगे हैं बल्कि दूसरी महिलाओं के लिए प्रेरणा बन चुकी हैं।

Also Read: वकील ने की पहले नौ हजार और फिर 75 हजार की नौकरी, मन नहीं लगा तो बनीं हीरोइन, हुईं हिट

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.