December 04, 2016

ताज़ा खबर

 

शिवाय एक्टर अजय देवगन ने कहा- राजनीति से डरा हुआ है बॉलीवुड जगत

अजय ने कहा- अभिनेता के मुताबिक सबसे महत्वपूर्ण बात है कि लोगों को देश के साथ खड़ा रहना चाहिए।

Author मुम्बई | October 22, 2016 16:37 pm
बॉलीवुड स्टार अजय देवगन।

अभिनेता अजय देवगन का कहना है कि जब राष्ट्रवाद की बात आती है तो फिल्म उद्योग एकजुट है लेकिन जब बीच में राजनीति घुस जाती है तो यह पूरी तरह ‘‘भयभीत और कमजोर’’ हो जाता है। जब पूछा गया कि यह राष्ट्रवाद है या डर तो अजय ने कहा, ‘‘दोनों। जब राष्ट्रवाद की बात होती है तो जैसा कि मैंने कहा कि मैं देश के साथ खड़ा हूं। जब राजनीति की बात आती है तो उद्योग जगत का व्यक्ति थोड़ा भयभीत हो जाता है। वह भयभीत इसलिए हो जाता है कि अगर आज आप किसी समूह के खिलाफ कोई बात करते हैं तो आपकी फिल्म रोक दी जाती है, कुछ भी हो सकता है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘जहां तक राजनीति की बात है तो हम काफी चिंतित हैं। जहां राष्ट्रवाद की बात है, मेरा मानना है कि यह (बॉलीवुड) विभाजित नहीं है।’’

अजय एक टीवी चैनल के विशेष समारोह ‘मंथन’ में काजोल के साथ बोल रहे थे। करण जौहर की फिल्म ‘‘ऐ दिल है मुश्किल’’ को मनसे से मिल रही धमकियों के मद्देनजर उनका बयान आया है जिसमें पाकिस्तानी अभिनेता फवाद खान भी अभिनय कर रहे हैं। मनसे ने कहा कि वह 28 अक्तूबर को फिल्म को रिलीज नहीं होने देगी। जौहर ने बयान जारी कर कहा कि वह फिर कभी पाकिस्तानी कलाकारों के साथ काम नहीं करेंगे और देश के लिए सबसे ज्यादा सम्मान है। 47 वर्षीय अभिनेता ने कहा कि जब राजनीति की बात आती है तो कई लोग अपना विचार रखने से डरते हैं क्योंकि उन्हें अनावश्यक विवाद झेलना पड़ता है।

वीडियोः पाक फिल्म के MAMI समारोह में बैन होने और ‘ऐ दिल है मुश्किल’ से जुड़े सवाल को टाल गए आमिर; कहा- ‘MAMI से पूछो’

उन्होंने कहा, ‘‘हम राजनीति से दूर रहना चाहते हैं क्योंकि हम कमजोर हैं। लेकिन जब देश की बात आती है तो मैं वहां खड़ा होता हूं। लेकिन जब राजनीति की बात होती है तो ‘आप डर के चुप हो जाते हो’’ अजय ने कहा कि समाज की तरह बॉलीवुड भी बंटा हुआ है लेकिन जब धर्म की बात आती है तो फिल्म उद्योग के लिए यह कोई मुद्दा नहीं है, यह इसकी ‘‘सबसे बड़ी खासियत’’ है। उन्होंने कहा, ‘‘फिल्म उद्योग समाज की तरह बंटा हुआ है। लेकिन जहां तक धर्म की बात है तो यह नहीं है… ‘मनोरंजन में धर्म की समस्या आती ही नहीं है’। जो भी राजनीतिक या धार्मिक स्थिति हो, हमारी फिल्मों में काम करने वाले लोग हिंदू, मुस्लिम, पारसी, इसाई हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम साथ…साथ ईद और दिवाली मनाते हैं। मैं न केवल अपनी फिल्म इकाई की बात कर रहा हूं बल्कि पूरे फिल्म जगत की बात कर रहा हूं। हमारे समक्ष यह समस्या (धर्म की) कभी नहीं आई। यह हमारी सबसे बड़ी खासियत है।’’ भारत में पाकिस्तानी कलाकारों के काम करने को लेकर जारी विवाद के बीच उन्होंने कहा कि वह पहले भी पाकिस्तानी कलाकारों के साथ काम कर चुके हैं और उनका मानना है कि उन्हें पूरी तरह ‘‘प्रतिबंधित’’ नहीं करना चाहिए। सिंघम के अभिनेता ने कहा, ‘‘मैंने पाकिस्तानी कलाकारों, पाकिस्तानी गायकों के साथ काम किया है। मेरी जिंदगी का सबसे अच्छा संगीत नुसरत फतेह साहब ने ‘कच्चे धागे’ में दिया। पाकिस्तानी कलाकारों ने मेरे साथ काम किया। हमें भविष्य में भी साथ काम करना चाहिए। लेकिन कभी…कभी कुछ स्थितियां उभर आती हैं। फिलहाल उन्हें प्रतिबंधित नहीं किया जाना चाहिए लेकिन हमें देश के साथ खड़ा होने का निर्णय करना होगा।’’

अभिनेता के मुताबिक सबसे महत्वपूर्ण बात है कि लोगों को देश के साथ खड़ा रहना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘अगर हमारे देश की सेना वहां लड़ रही है तो आप नहीं कह सकते कि वे जो करना चाहते हैं करने दीजिए। ऐसे नहीं होता है। मुझे उम्मीद है कि समस्या जल्द सुलझ जाएगी और हम फिर साथ काम करने लगेंगे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अगर वे (पाकिस्तान) हम पर, हमारी फिल्मों और टेलीविजन पर प्रतिबंध लगाते हैं। अगर वे अपने देश के साथ खड़े हैं तो हमें भी अपने देश के साथ खड़ा होना चाहिए। हम आपस में क्यों लड़ रहे हैं।’’

READ ALSO: गुप्त जगहों पर बिन बताए होगी ‘रईस’ की बाकी की शूटिंग, जानिए क्यों

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 22, 2016 4:37 pm

सबरंग