December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

जब शाहरुख खान ने अमिताभ बच्चन को कराया था ढाई घंटों तक इंतजार, सीढ़ियों पर बैठे रहे महानायक

साल 1999 में शाहरुख खान और अमिताभ बच्चन दोनों आदित्य चोपड़ा की फिल्म मोहब्बतें की शूटिंग कर रहे थे।

शाहरुख खान (बाएं) और अमिताभ बच्चन।

बुधवार (2 नवंबर) को फिल्म स्टार शाहरुख खान अपना 51वां जन्मदिन मनाएंगे। गैर फिल्मी परिवार से आने वाले शाहरुख का जन्म दिल्ली में 1965 में हुआ था। 1992 में दीवाना फिल्म से अपना करियर शुरू करने वाले शाहरुख अभी तक सक्रिय हैं। अगले साल जनवरी में उनकी फिल्म रईस रिलीज होने वाली है। स्टारडम और स्टाइल के मामले में शाहरुख की तुलना अक्सर ही अमिताभ बच्चन और दिलीप कुमार से की जाती है। बॉलीवुड में अमिताभ को शहंशाह कहा जाता है तो शाहरुख को किंग खान। मायानगरी के बारे में कहा जाता है कि वहां केवल उगते सूरज को सलाम करने का चलन है। शायद यही वजह है कि एक वक्त ऐसा भी आया जब शाहरुख के सामने अमिताभ को इंडस्ट्री में कम तवज्जो मिलने लगी। और वो शाहरुख ही क्या जो सामने वाले को अपने रुतबे का अहसास न कराएं, अब वो भले ही महानायक अमिताभ ही क्यों न हों! वरिष्ठ पत्रकार मार्क मैनुअल ने अपने एक लेख में ऐसे ही एक वाकये का जिक्र किया है जब एक कार्यक्रम में बाकियों के साथ बिग बी को शाहरुख का करीब ढाई घंटे तक इंतजार करना पड़ा था।

बात उस समय की है जब अमिताभ बच्चन को फिल्मी सितारा गर्दिश में था। 1990 के दशक में अमिताभ की आखिरी सोलो हिट फिल्म थी “खुदा गवाह” जो 1992 में आई थी। कहा जाता है कि अमिताभ बच्चन को फिल्मों में काम मिलना बंद हो गया था। धीरे धीरे उन्होंने फिल्मों में सहायक अभिनेता की भूमिका निभानी शुरू कर दी। मेजर साहब, सूर्यवंशम और बड़े मियां छोटे मियां में अमिताभ सेकंड लीड के रोल कर रहे थे। वहीं शाहरुख की बड़ी हिट रहीं बाजीगर और डर 1993 में आईं। उसके बाद दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे (1995), कुछ कुछ होता है (1997) और दिल तो पागल है (1998) के बाद शाहरुख को नया सुपरस्टार कहा जाने लगा।

मार्क मैनुअल के अनुसार ये किस्सा 1999 का है। जब अमिताभ और शाहरुख दोनों आदित्य चोपड़ा की फिल्म “मोहब्बतें” में एक साथ काम कर रहे थे। कहा जाता है कि ये रोल अमिताभ ने यश चोपड़ा से खुद जाकर मांगा था। अमिताभ से पुरानी दोस्ती के नाते यश चोपड़ा ने उन्हें ये रोल दिलवा दिया। मोहब्बतें की शूटिंग के दौरान ही एक बार एक किताब के लोकार्पण में अमिताभ और शाहरुख दोनों को मुंबई के एक प्लैनेट एम स्टोर में शाम 8.30 बजे पहुंचना था। अमिताभ बच्चन अपनी पहली फिल्म से ही समय की पाबंदी के लिए जाने जाते हैं। इस कार्यक्रम में भी वो शूटिंग के बाद ठीक 8.30 बजे पहुंच गए। जब अमिताभ वहां पहुंचे तो देखा कि वहां अभी तक केवल कैटरर्स और डेकोरेटर्स ही मौजूद हैं।

पत्रकार मार्क मैनुअल 9.30 कार्यक्रम में पहुंचे। मैनुअल के अनुसार वहां मौजूद आमोखास लोग अमिताभ को ज्यादा तवज्जो नहीं दे रहे थे। एक लेखक ने मैनुअल से उनके कान में फुसफुसा कर कहा, “किताब का लोकार्पण वो नहीं, शाहरुख करेंगे।” जब मैनुअल ने अमिताभ को ये बताया तो वो हैरान हो गए। उन्होंने कहा कि शाहरुख उनके साथ ही शूटिंग कर रहे थे और उन्होंने उनसे इसका जिक्र नहीं किया। बहरहाल, अमिताभ और मैनुअल प्लैनट एम की सीढ़ियों पर बैठकर उनका इंतजार करते रहे। शाहरुख अपने अंदाज में शूटिंग के बाद घर गए और नहा-धोकर कपड़े बदलकर 11 बजे कार्यक्रम में पहुंचे और कार्यक्रम संपन्न हुआ। लेकिन शायद ये आखिरी बार रहा होगा जब अमिताभ को इस तरह झेलना पड़ा होगा। अगले ही साल 2000 में अमिताभ टीवी कार्यक्रम कौन बनेगा करोड़पति लेकर आए और पूरे देश में एक बार फिर छा गए। उसके बाद अमिताभ ने ढलती उम्र में करियर में वापसी करके हिंदी सिनेमा में एक नया ही इतिहास रच दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 2, 2016 8:49 am

सबरंग