ताज़ा खबर
 

तौलिए के विज्ञापन में संजय गांधी को भा गई थीं मेनका, पहले करती थीं मॉडलिंग

मेनका अपनी किशोरावस्था में बेहद सुंदर थीं। वह कॉलेज में कई ब्यूटी कॉन्टेस्ट के खिताब भी अपने नाम कर चुकी थीं। यहां तक कि उन्हें...

मेनका गांधी। नाम सुना-सुनाया लगता है न। मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री हैं। महिला व बाल विकास मंत्रालय देखती हैं। इसके अलावा पशुओं से भी खासा लगाव है। एनिमल राइट्स के लिए अक्सर आवाज बुलंद करती रहती हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं राजनीति में आने पहले उनकी जिंदगी कैसी थी। कैसे वह संजय गांधी से मिलीं और उम्र में 10 साल छोटी होने के बाद भी उनसे शादी हुई।

संजय-मेनका की प्रेम कहानी बिल्कुल फिल्म जैसी ही है। संजय ने उन्हें पहली बार एक विज्ञापन में देखा। वह भी ऐसी चीज और ऐसे पोज़ में, जिसके बारे में उस दौर में लोग सोचते भी नहीं थे। मेनका ने तब तौलिए का विज्ञापन किया था।

जी हां, यह सच है। किस्सा साल 1973 का है। बॉम्बे डाइंग कंपनी का एक विज्ञापन आया, जिसमें एक मॉडल को तौलिया लपेटे दिखाया गया था। वह मॉडल मेनका गांधी ही थीं। तब इस ऐसे विज्ञापन टैबू हुआ करते थे। लोग टीवी पर महिलाओं को इन्हें पहनकर आने के बारे में सोचते भी नहीं थे।

दरअसल, मेनका अपनी किशोरावस्था में बेहद सुंदर थीं। वह कॉलेज में कई ब्यूटी कॉन्टेस्ट के खिताब भी अपने नाम कर चुकी थीं। यहां तक कि उन्हें मॉडलिंग असाइंमेंट्स मिल रहे थे।

इसी कड़ी में उन्हें तौलिए वाले विज्ञापन मिला था। संजय इसी विज्ञापन को देखने के बाद उन्हें दिल दे बैठे। संजय मेनका की कजिन वीनू कपूर के स्कूली दोस्त थे। 1973 में एक कॉकटेल पार्टी में दोनों मिले, जो वीनू की शादी के सिलसिले में रखी गई थी।

मेनका तब 17 बरस की थीं। दोनों उस दिन साथ रहे और अगले दिन भी मिले। बस फिर क्या था, मिलना-जुलना जारी रहा, प्यार जो परवान चढ़ चुका था। एक 23 सितंबर 1974 को दोनों की शादी हुई थी। संजय का जब हार्निया का ऑपरेशन हुआ। तब मेनका कॉलेज से सीधे उनसे मिलने अस्पताल जाया करती थीं।

(फोटो सोर्सः ओल्ड इंडियन ऐड्स)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग