ताज़ा खबर
 

‘ट्यूबलाइट’ Expert Reaction: तरण आदर्श बोले- सलमान खान की फिल्म ने किया निराश, कई और क्रिटिक्स की राय निगेटिव

कबीर खान निर्देशित फिल्म ट्यूबलाइट 23 जून को सिनेमाघरों में रिलीज हो चुकी है। फिल्म को लेकर फैन्स का एक्साइटमेंट काफी ज्यादा था लेकिन ऐसा लगता नहीं है कि फिल्म उस एक्साइटमेंट को पूरा कर पाई है।
Author नई दिल्ली | June 23, 2017 13:18 pm
फिल्म ट्यूबलाइट के एक सीन में सलमान बिना ग्लिसरीन आंख में डाले सच में रो पड़े थे।

कबीर खान निर्देशित फिल्म ट्यूबलाइट 23 जून को सिनेमाघरों में रिलीज हो चुकी है। फिल्म को लेकर फैन्स का एक्साइटमेंट काफी ज्यादा था लेकिन ऐसा लगता नहीं है कि फिल्म उस एक्साइटमेंट को पूरा कर पाई है। सोशल मीडिया पर फिल्म को लेकर ज्यादातर रिएक्शन निगेटिव है और साथ ही साथ एक्सपर्ट्स का रिएक्शन भी निगेटिव ही आ रहा है। ट्रेड एनालिस्ट तरण आदर्श ने ट्वीट कर सलमान खान की इस फिल्म को डिसअपॉइंटिंग बताया है। उन्होंने लिखा कि फिल्म की स्टार पॉवर तो कमाल की है लेकिन फिल्म की आत्मा (स्क्रिप्ट) में उतना दम नहीं है। फिल्म एक बहुत ही हल्के प्लॉट पर चलती है… स्क्रीनप्ले कहीं न कहीं मात खाता है और फिल्म को कमजोर करता है… फिल्म में डाले गए इमोशन्स ठीक ठाक हैं और कहीं कहीं पर यह आपको हिला देते हैं।

टाइम्स ऑफ इंडिया पर मीना अईय्यर के रिव्यू में हालांकि कहा गया कि सलमान खान ने उनके फैन्स का उनमें भरोसा कायम रखा लेकिन एनडीटीवी के रिव्यू में राजा सेन ने सलमान खान को फिल्म में सबसे वाहियात चीज बताया। ज्यादातर क्रिटिक्स को फिल्म की स्टार कास्ट के बजाय फिल्म की कहानी से दिक्कत है।

भारत की 4350 और विदेशों में 1200 से ज्यादा स्क्रीन्स पर रिलीज की गई यह फिल्म 1962 में हुए भारत और चीन के युद्ध पर आधारित है। फिल्म में सलमान खान के अलावा सोहेल खान और चीनी एक्ट्रेस झूझू अहम भूमिकाओं में हैं। फर्स्टपोस्ट डॉट कॉम के इमरान मोहम्मद ने हालांकि फिल्म को फील गुड इमोशनल रोलरकोस्टर राइड बताया है। फिल्म की कहानी में काफी भावनात्मक है। फिल्म की कहानी की बात करें तो फिल्म की कहानी एक बड़े हो चुके लड़के की है जिसका दिमाग पूरी तरह से विकसित नहीं हुआ है। दूसरे शब्दों में कहें तो ऐसा किरदार जो शरीर से बड़ा हो चुका है लेकिन दिमाग अभी भी बच्चों वाला है। स्क्रीन पर सलमान खान को आप सभी ने कई तरह के किरदार को निभाते हुए देखा होगा और हर बार उन्होंने उसे उम्दा तरीके से निभाया है। कबीर खान की इस फिल्म की बात करें तो इसमें उनके किरदार का नाम लक्ष्मण सिंह बिष्ट है। जिसे पड़ोस के बच्चे ट्यूबलाइट कहकर बुलाते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि उसे देर से चीजें समझ आती है।

जैसे ट्यूबलाइट जलने में टाइम लगाती है। लेकिन एब बार जलने के बाद वो रौशन रहती है। इस फिल्म से उम्मीद है कि यह बजरंगी भाईजान वाला जादू चलाने में कामयाब रहेगी। वहीं डायरेक्टर को अंतर्राष्ट्रीय मामलों को स्क्रीन पर बखूबी दर्शाने के लिए जाना जाता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.