January 16, 2017

ताज़ा खबर

 

अभिनेता ओम पुरी का हुआ अंतिम संस्कार, मौजूद रहीं फिल्मी हस्तियां

जाने माने अभिनेता ओम पुरी को मुंबई के ओशीवरा श्मशान स्थल पर शुक्रवार शाम 6.45 बजे उनके अंतिम संस्कार की रस्में शुरू हुईं और उनके बेटे इशान ने मुखाग्नि दी।

अंतिम यात्रा पर जाते ओम पुरी (Photo- PTI)

जानेमाने अभिनेता ओम पुरी का शुक्रवार (6 जनवरी) शाम यहां अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस मौके पर सिनेमा जगत की कई हस्तियां मौजूद थीं। उनका सुबह दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था। वह 66 साल के थे। मुंबई के ओशीवरा श्मशान स्थल पर शुक्रवार शाम 6.45 बजे उनके अंतिम संस्कार की रस्में शुरू हुईं और उनके बेटे इशान ने मुखाग्नि दी। बड़ी संख्या में उनके प्रशंसक यहां उनकी आखिरी झलक पाने के लिए जमा थे। शाम करीब 6.00 बजे उनका पार्थिव शरीर अंधेरी स्थित उनके आवास से एंबुलेंस के जरिए श्मशान घाट ले जाया गया। पार्थिव शरीर को ले जाने से पहले आवास पर कुछ देर पूजा भी की गई। पुरी से अलग रह रहीं उनकी पत्नी नंदिता, बेटा इशान और फिल्मकार अशोक पंडित पार्थिव शरीर के साथ थे। अभिनेता शशि कपूर, अमिताभ बच्चन, अभिषेक बच्चन, जावेद अख्तर, शबाना आजमी, इरफान, गुलजार, शक्ति कपूर, प्रकाश झा, सतीश कौशिक, रणवीर शौरी, अभिषेक चौबे, राहुल ढोलकिया, मनोज बाजपेयी, केतन मेहता, नवाजुद्दीन सिद्दीकी, पंकज कपूर, रमेश सिप्पी, श्याम बेनेगल, सुधीर मिश्रा, पीयूष मिश्रा तथा कई अन्य लोगों ने पुरी को श्रद्धांजलि अर्पित की। अनिल कपूर, कबीर खान, सुप्रिया पाठक, जॉनी लीवर, आलोक नाथ, रत्ना पाठक शाह, विवान शाह, इला अरूण, कंवलजीत सिंह, फरहान अख्तर और सोनू सूद ने भी इस दिग्गज अभिनेता को श्रद्धांजलि दी।

18 अक्टूबर 1950 को बॉलीवुड के अभिनेता ओम पुरी का जन्म हरियाणा के अंबाला में एक पंजाबी परिवार में हुआ था। उनके पिता भारतीय रेलवे और भारतीय सेना में काम करते थे। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत 1976 में आई मराठी फिल्म घासीराम कोतवाल से की थी। उन्हें भारत के चौथे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म श्री से सम्मानित किया गया था। पुरी पुणे के फिल्म एंड टेलिविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के छात्र थे। एक्टर ने 1973 के बैच में नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से नसीरुद्दीन शाह के साथ पढ़ाई की थी। पुरी ने भारतीय फिल्मों के साथ ही पाकिस्तानी, ब्रिटिश और हॉलीवुड फिल्मों में काम किया था। उनके खाते में स्वतंत्र फिल्मों के साथ ही आर्ट फिल्में भी दर्ज हैं। उन्होंने अमेरिकन फिल्मों में भी एपियरेंस दी है।

1993 में ओम पुरी ने नंदिता पुरी से शादी की थी। हालांकि यह जोड़ा 2013 में अलग हो गया था। उनका एक बेटा इशान है। उन्होंने ब्रिटेन और अमेरिका में प्रोड्यूस हुई कई फिल्मों में काम किया है। विजय तंदुलकर के मराठी नाटक पर बनी फिल्म घासीराम कोतवाल के साथ पुरी ने अपने बॉलीवुड करियर की शुरुआत की थी। इस फिल्म का निर्देशन के हरिहरन और मनी कौल ने किया था। दिलचस्प बात यह है कि फिल्म एफटीटीआई के 16 छात्रों के सहयोग से बनी थी। एक्टर ने दावा किया था कि उन्हें अपने बेहतरीन काम के लिए मूंगफली दी गई थी।

अमरीश पुरी, नसीरुद्दीन शाह, शबाना आजमी और स्मिता पाटिल के साथ ओम पुरी उन मुख्य एक्टर्स में शुमार हैं जिन्होंने उस समय की कही जाने वाली आर्ट फिल्मों में काम किया था। जिसमें 1980 में आई भावनी भवाई, 1981 की सद्गती, 1982 में अर्ध सत्य, 1986 में मिर्च मसाला और 1992 में आई फिल्म धारावी में काम किया था।

1982 में आई फिल्म अर्ध सत्य के लिए ओम पुरी को बेस्ट एक्टर का राष्ट्रीय पुरस्कार दिया गया था। फिल्म में उन्होंने एक पुलिस इंस्पेक्टर का किरदार निभाया था। फिल्मों के अलावा एक्टर कई टीवी शोज में भी काम कर चुके हैं। जिसमें 2004-20005 के बीच सोनी चैनल पर प्रसारित होने वाले शो आहट का दूसरा सीजन सीजन, भारत एक खोज, यात्रा, मिस्टर योगी, काकाजी कहिन, सी हॉक्स और अंतारल शामिल हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on January 6, 2017 10:44 pm

सबरंग