January 24, 2017

ताज़ा खबर

 

MS Dhoni – The Untold Story में क्यों नहीं दिखा उनके बड़े भाई का किरदार, जानिए

MS Dhoni the untold story hidden facts: कोलकाता के अखबार से बातचीत में नरेंद्र ने कहा- मैं फिल्म में नहीं हूं क्योंकि शायद मेरा धोनी की जिंदगी में कोई खास योगदान नहीं है।

भाई नरेंद्र सिंह धोनी के साथ क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी। (Photo: Twitter)

फिल्म MSDhoni: The Untold Story ने हफ्ते भर में 94.13 करोड़ की कमाई कर ली है। अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत स्टारर यह फिल्म धोनी के बचपन से लेकर उनके भारतीय टीम के कैप्टन बनने तक की पूरी कहानी बयां करती है। लेकिन इसने धोनी की जिंदगी के एक महत्वपूर्ण हिस्से को छोड़ दिया। फिल्म में धोनी के परिवार को फिल्माते वक्त सिर्फ उनकी एक बड़ी बहन जयंती को दिखाया गया है, जिसका किरदार भूमिका चावला निभाया। लेकिन बहुत कम लोग इस बात को जानते हैं कि धोनी का एक बड़ा भाई भी है जिसका नाम नरेंद्र सिंह धोनी। निर्देशक नीरज पांडे ने पर्दे पर सिर्फ धोनी और उनकी बड़ी बहन जयंती के रिश्ते को फिल्माया है, जो दर्शकों को यह जानने पर मजबूर करता है कि धोनी की सिर्फ एक बड़ी बहन थी। रांची में समाजवादी पार्टी के राजनेता नरेंद्र को इससे कोई दिक्कत भी नहीं है। द टेलीग्राफ अखबार से बातचीत में धोनी से 10 साल बड़े नरेंद्र ने कहा- यह फिल्ममेकर्स का चुनाव रहा होगा। मैं इसमें क्या कह सकता हूं।

mahendra-singh-dhoni-elder-brother

कोलकाता के अखबार से बातचीत में नरेंद्र ने कहा- मैं फिल्म में नहीं हूं क्योंकि शायद मेरा धोनी की जिंदगी में कोई खास योगदान नहीं है। चाहे यह उसका बचपन हो, युवा के तौर पर उसका स्ट्रगल या जब वह दुनिया के लिए MSD बना। फिल्म धोनी के बारे में है न कि उसके परिवार के बारे में। उन्होंने अखबार को बताया कि मैं धोनी से 10 साल बड़ा हूं और जब धोनी ने पहली बार बैट उठाया था मैं जेवीएम-श्यामली से बाहर था और 1991 तक घर से दूर था। मैं रांची वापस लौटने से पहले अपनी उच्च शिक्षा के लिए अल्मोड़ा की कुमाऊ यूनिवर्सिटी में था। हालांकि माही की जिंदगी में मेरा नैतिक योगदान जरूर है, लेकिन इसे फिल्म में परिलक्षित किया जाना मुश्किल काम था।

नरेंद्र ने कहा- इसका मतलब यह नहीं है कि धोनी ने कभी एक छोटी भाई की भूमिका नहीं निभाई। मुझे अच्छी तरह याद है कि रांची डिस्ट्रिक सीनियर टूर्नामेंट के दौरान जब उसने एक ओवर में 5 चौके जड़े थे, मैं वहां मौजूद था। इसके बाद भी जब मैं घर आता था तो कई बार उसके मैच देखता था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 7, 2016 1:01 pm

सबरंग