December 05, 2016

ताज़ा खबर

 

कुणाल नय्यर ने कहा मैं प्रियंका और दीपिका को नहीं दे सकता कोई सलाह

हाल ही में अमेरिकन टीवी शो में प्रियंका से पूछा गया था कि क्या जब वो पहली बार अमेरिका आई थी क्या तब उन्हें अंग्रेजी बोलनी आती थी। क्या अमेरिकन भारतीयों को मूर्ख समझते हैं। इसके जवाब में कुणाल ने कहा कि मैंने कभी ऐसा कुछ महसूस नहीं किया।

कुणाल नय्यर ने कहा प्रियंका और दीपिका को नहीं दे सकता सलाह। Image Source: Instagram

कुणाल नय्यर ने इस साल अपने घर यूके में दीवाली को सेलिब्रेट किया। यहां उन्होंने अपने दोस्तों के लिए एक पार्टी का आयोजन किया। इसके अलावा अपने दोस्तों को तीन पत्ती खेलना सिखाया। एक्टर को खुशी है कि दीपिका और प्रियंका ने हॉलीवुड में एंट्री कर ली है। कुणाल ने हंसी मजाक वाले सीरियल द बिग बैंग थ्योरी के जरिए पूरी दुनिया में अपनी एक अलग छाप छोड़ी थी। अब वो एक एनिमेशन फिल्म के जरिए लोगों का मनोरंजन करने के लिए तैयार हैं। जब नय्यर से इंटरव्यू में पूछा गया कि वो प्रियंका और दीपिका को क्या सलाह देंगे तो उन्होंने कहा मैं उन्हें क्या सलाह दे सकता हूं। वो मूवी स्टार्स हैं। जब आप बॉ़लीवुड में एक लेवल पर पहुंच जाते हैं तो आपके अंदर सुरक्षा का भाव आ जाता है। आप दूसरों को अपने आप को छूने नहीं देते हैं। ऐसा हॉलीवुड में नहीं होता है। आपको अच्छे काम के लिए लगातार लड़ना पड़ता है। दोनों काफी टैलिंटिड हैं और बहुत अच्छी प्रोफेशनल हैं। इसी वजह से वो यहां तक पहुंचने में कामयाब रही हैं।

Movie Review- प्यार, दोस्ती, रोमांस और एंटरटेनमेंट का एक बेहतरीन पैकेज है ‘ऐ दिल है मुश्किल’

हाल ही में अमेरिकन टीवी शो में प्रियंका से पूछा गया था कि क्या जब वो पहली बार अमेरिका आई थी क्या तब उन्हें अंग्रेजी बोलनी आती थी। क्या अमेरिकन भारतीयों को मूर्ख समझते हैं। इसके जवाब में कुणाल ने कहा कि मैंने कभी ऐसा कुछ महसूस नहीं किया। आप दुनिया के किसी भी देश को चुन लीजिए वहां समाज दो हिस्सो में बंटा हुआ मिलेगा। मुझे यकीन है कि अमेरिका में कुछ लोग भारतीयों को मूर्ख समझते होंगे। वहीं भारत में कई लोग अमेरिकन के बारे में ऐसा ही सोचते होंगे। लेकिन ज्यादातर जिन लोगों से मैं मिला हूं वो भारतीय संस्कृति के बारे में जानना चाहते हैं और उसका स्वागत करते हैं।

एक एनिमेटिंड फिल्म ट्रॉल के लिए डब करने के बाद मिले अनुभव को बताइए। इसपर कुणाल ने कहा कि मुझे प्रोड्यूसर की तरफ से फोन आया और मैंने इस अवसर को अपना लिया। किसी एनिमेटिड किरदार के ऊपर काम करना काफी स्वतंत्रता वाला काम होता है। इसके जरिए आपके अंदर छिपा बच्चा जाग उठता है। वहीं जब आप कैमरे के सामने शूट देते हैं तो कैमरे की उपस्थिति से प्रभावित जरूर होते हैं। लेकिन डबिंग के समय आपको सबकुछ करने की इजाजत होती है। यह काफी मजेदार होता है। जब कभी मैं डब के लिए जाता हूं काफी अच्छे मूड में होता हूं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 4, 2016 1:10 pm

सबरंग