ताज़ा खबर
 

‘कुछ रंग प्यार के ऐसे भी’ में देव की बहन नेहा अपने ससुराल को छोड़ कर मायके आई

Kuch Rang Pyar Ke Aise Bhi Full Episode: देव की बहन नेहा अपने ससुराल को छोड़ कर अपने मायके आ जाती है। वो बोलती है कि रणवीर उसे प्यार नहीं करते हैं और उसे वहां बहुत ही घुटन होती है। वो अब वहां और नहीं रह सकती है। देव रणवाीर पर काफी गुस्सा होता है। इधर विकी की भी देव की कंपनी में नौकरी हो जाती है।
Author नई दिल्ली | October 13, 2016 08:38 am
देव की बहन नेहा अपने ससुराल को छोड़ कर मायके आ गई है।

‘सोनी टीवी’ पर प्रसारित होने वाले शो ‘कुछ रंग प्यार क ऐसे भी’ के 12 अक्टूबर के एपिसोड में सोना के पापा देव को बोलते हैं कि उसके कल्चर में क्या सिर्फ पत्नी ही व्रत रखती है, पति नहीं। सोना की बहन देव से पूछती हैं कि वे लोग हनीमून की प्लानिंग कब कर रहे हैं। देव बोलता है कि नवरात्र के बाद। देव सोना से सुबह के बिहेवियर के लिए माफी मांगता है क्योंकि वो स्ट्रेस में था। सोना इट्स ओके बोल कर चुप हो जाती है। देव को लगता है कि उसने उसे माफ नहीं किया है। सोना बोलती है कि वो उसकी फैमिली में ढलने की कोशिश करती रहती है। जब तक उसे दूसरा कल्चर समझ आएगा तब तक दिक्कतें आयेंगी। दोनों वापस अपने घर पर आते हैं। ईश्वरी उन्हें देख कर बोलती है कि सोना अपने घर से आकर काफी खुश लग रही है। मामी उन्हें काफी ताने मार रही है। सारे लोग विकी की शादी की बात करते हैं लेकिन मामी बोलती हैं कि बिना नौकरी के उसकी शादी कैसे होगी। तभी वहां देव की बहन नेहा अपने लगेज के साथ आती है। सभी उसे देखकर काफी परेशान हो जाते हैं । वो बोलती है कि वो अपना ससुराल को छोड़ कर आ गई है। देव भी उससे पूछता है कि रणवीर ने उसके साथ ऐसा क्या किया कि उसे घर छोड़ कर आना पड़ा।

 

सोना बोलती है कि बैठ कर सोचते हैं कि क्या हुआ। इस पर ईश्वरी बोलती है कि बहन की आंखों में आंसू देख कर भाई को तकलीफ होगी ही। अपने ही अपनों का दर्द समझ सकते हैं। नेहा बोलती है कि वो उस घर में काफी घुट-घुट कर रहती है। ईश्वरी बोलती है कि उसे तो पहले से पता था रणवीर के हालत के बारे में फिर उसे अब ऐसा क्यों लग रहा है। नेहा , मां को बोलती है कि कमी मेरी तरफ से नहीं बल्कि रणवीर की तरफ से हैं। नेहा अपना फैसला सुनाती है कि अब वो उस घर में वापस नहीं जाएगी। इस पर उसकी मां बोलती है कि वो उससे प्यार करती है। नेहा ने कहा कि अगर वो इस घर में बोझ की तरह लग रही है तो वो यहां से भी चली जाएगी। इस पर उसकी मां उसे रोक लेती है। सोना, देव को समझाती है कि नेहा को वक्त चाहिए वो खुद समझ जाएगी।

सुबह होने पर ईश्वरी, देव के कमरे में आकर बोलती है कि वो अपनी बहन की फिक्र करना भूल गया है। वो अपने नई गृहस्थी में होकर अपने घर की जिम्मेदारी ना भूल जाए। इस घर ने उसे बहुत कुछ दिया है। देव ने कहा कि उसे सब याद है और वो विकी की नौकरी के बारे में भी सोच रहा है।

सोना, नेहा के कमरे में आती है उसे घूमने चलने का ऑफर करती है। नेहा बोलती है कि उसे कहीं नहीं जाना है और उसे कोई डिस्टर्ब ना करे। वो जब से यहां आई है सभी उससे सवाल कर रहे हैं जैस उसने कछ गलत कर दिया हो। फिर बाद में वह उसे सॉरी बोलती है।

सौरभ अपने अकाउंट में पैसे नहीं होने के कारण काफी परेशान है। ऐसे में उसकी बहन उससे दस हजार रुपये पॉकेट खर्च के लिए उधार मांग लेती है। वो वहां पड़ा तीन हजार रुपये ले लेती है। भाई को परेशान देखकर वो बोलती है कि उसे क्या हुआ इस पर सौरभ बोलता है कि उसे सोना की बहुत याद रही है। इधर विकी की मां अपने बेटे विकी को खाना खिलाए जा रही है कि उसका आज नौकरी का पहला दिन है।

आज के एपिसोड में आप देखेंगे कि देव, विकी उसके नए बॉस से मिलवाता है।

Read Also:

‘कुछ रंग प्यार के ऐसे भी’ में सोनाक्षी को लेकर देव ने मां से किया झगड़ा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग