May 24, 2017

ताज़ा खबर

 

16 अक्‍टूबर से पाकिस्‍तान में नहीं दिखाए जाएंगे भारतीय टीवी शो, दिखाने पर लाइसेंस होगा रद्द

पेमरा के नियमों के अनुसार स्थानीय चैनल सिर्फ पांच फीसदी विदेशी कार्यक्रम ही दिखा सकते हैं।

Author इस्लामाबाद | October 4, 2016 20:55 pm
(Source: Screenshot)

भारत-पाक संबंधों में तनाव के बीच पाकिस्तान की इलेक्ट्रॉनिक मीडिया निगरानी संस्था ने आज ऐलान किया कि 16 अक्तूबर से उन चैनलों का प्रसारण निलंबित किया जाएगा, जो गैरकानूनी ढंग से भारतीय कार्यक्रमों का प्रसारण कर रहे होंगे। इससे एक दिन पहले उसने भारतीय टेलीविजन कार्यक्रमों को प्रसारण अवधि प्रदान करने मामले में परस्पर आदान-प्रदान की शर्त लगाई थी। पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया नियामक प्राधिकरण (पेमरा) ने अपने अध्यक्ष अबसार आलम को यह अधिकार दिया है कि वह ऐसी किसी भी कंपनी का लाइसेंस बिना किसी पूर्व नोटिस के निलंबित अथवा रद्द कर सकते हैं जो गैरकानूनी ढंग से भारतीय कार्यक्रमों का प्रसारण कर रहे हों। पेमरा की कल हुई एक बैठक में गैरकानूनी ढंग से विदेशी कार्यक्रम दिखाए जाने के मुद्दे और इस तरह के कार्यक्रमों का प्रसारण रोके जाने की 15 अक्तूबर तक की समयसीमा पर बातचीत की गई। इस संस्था ने एक बयान में कहा कि आलम को यह अधिकार दिया गया है कि वह ऐसी किसी भी कंपनी का लाइसेंस बिना किसी पूर्व नोटिस के निलंबित अथवा रद्द कर सकते हैं जो 15 अक्तूबर की समयसीमा के बाद भी गैरकानूनी ढंग से भारतीय कार्यक्रमों का प्रसारण करते हैं।

एनआईए को मिली बड़ी कामयाबी, देखें वीडियो: 

पेमरा ने परवेज मुशर्रफ के शासनकाल में भारतीय टेलीविजन कार्यक्रमों और फिल्मों के प्रसारण को लेकर दी गई छूट की व्यवस्था में संशोधन करते हुए कहा कि पाकिस्तान में भारतीय कार्यक्रमों के लिए उतनी ही प्रसारण अवधि दी जाएगी जितनी भारत में पाकिस्तानी कार्यक्रमों को मिलेगी। यह फैसला कल किया गया। इस बारे में घोषणा उस वक्त की गई है जब उरी हमले और फिर भारत की ओर से पीओके में आतंकी ठिकानों पर किए गए लक्षित हमलों के बाद भारत और पाकिस्तान के संबंधों में तनाव है। पेमरा के नियमों के अनुसार स्थानीय चैनल सिर्फ पांच फीसदी विदेशी कार्यक्रम ही दिखा सकते हैं, हालांकि अधिकतर पाकिस्तानी चैनल ज्यादातर विदेशी कार्यक्रमों पर निर्भर करते हैं। इनमें भारतीय, तुर्की, अमेरिकी और यूरोपीय कार्यक्रम शामिल हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 4, 2016 8:55 pm

  1. No Comments.

सबरंग