December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

1000/500 के नोटबंदी की बहस में नहीं पड़ना चाहते ऋतिक रोशन

ऋतिक कुमार मंगलम बिड़ला की बिटिया अनानुआ बिड़ला का अल्बम जारी करने के दौरान बोल रहे थे। इस मौके पर विधु विनोद चोपड़ा, प्रसून जोशी, राहुल बोस, शाइना एनसी, रणविजय सिंह आदि लोग उपस्थित थे।

Author November 13, 2016 13:32 pm

अभिनेता ऋतिक रोशन 500 और हजार रच्च्पये के नोट बंद होने की बहस में नहीं पड़ना चाहते, जबकि बॉलीवुड उद्योग के बड़े बड़े लोग सरकार के इस निर्णय का प्रशंसा कर रहे हैं। अमिताभ बच्चन, शाहरच्च्ख खान, करण जौहर ने काले धन के खिलफ लड़ाई के उद्देश्य से बड़े नोटों का चलन बंद करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तारीफ की है। नोटों के बंद किये जाने पर पत्रकारों ने ऋतिक से इस पर उनका विचार पूछे, तो ऋतिक ने कहा, ‘‘अभी कुछ नहीं।’’

ऋतिक कुमार मंगलम बिड़ला की बिटिया अनानुआ बिड़ला का अल्बम जारी करने के दौरान बोल रहे थे। इस मौके पर विधु विनोद चोपड़ा, प्रसून जोशी, राहुल बोस, शाइना एनसी, रणविजय सिंह आदि लोग उपस्थित थे। नकदी बंद होने पर प्रसून जोशी ने कहा, ‘‘जब यह निर्णय किया गया, तो मेहनत से पैसा कमाने वाले लोगों के चेहरों पर खुशी आ गयी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हो सकता है कि कुछ सप्ताह के लिए थोड़ी दिक्कत हो, लेकिन यदि इस प्रकार के कदम नहीं उठाये गये होते, तो देश में बदलाव लाना कठिन हो जाता। मैं उन सभी लोगों के साथ हूं, जिन्हें सरकार के इस कदम से कोई चिंता नहीं है क्योंकि हम एक साफ सुधरा जीवन चाहते हैं, इसलिये हमें इस मुहिम का हिस्सा बनना चाहिये।’’

चोपड़ा ने सरकार के इस कदम की तारीफ करते हुये इसे एक ‘अच्छा कदम’ करार दिया। सरकार के इस कदम से खातों में धन जमा करने और निकालने में भी आम लोगों को दिक्कते आ रही हैं। सरकार के इस कदम की अन्य पार्टियों द्वारा आलोचना करने पर शाइना ने कहा, ‘‘यह समझना बहुत जरूरी है कि प्रधानमंत्री ने ऐसा निर्णय लिया है, जो सभी के हित में है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम आतंकवाद और जाली मुद्रा को दूर करना चाहते हैं। हो सकता है कि इसमें कुछ परेशानी आये, लेकिन आपको बड़े पैमाने पर सोचना होगा। यह सभी भारतीयों के हित में है।’’ फिल्म उद्योग के ज्यादातर लोगों ने प्रधानमंत्री के इस कदम का स्वागत किया है, लेकिन अभिनेता अरशद वारसी को इससे कोई खास खुशी नहीं हुयी।

वारसी ने सोशल मीडिया ट्विटर में प्रधानमंत्री पर कई ट्वीट किये और उनसे पूछा कि नया कानून बनाकर और पूराने कानूनों में संशोधन के जरिये भी फर्जीवाड़ा करने वाली कंपनियों पर रोक लगाकर और देश में कर-दाताओं की संख्या बढ़ाकर भी कालेधन पर नकेल लगायी जा सकती थी।

वीडियो- मूवी रिव्यू: ‘रॉक ऑन’ जैसा जादू नहीं चला पाई ‘रॉक ऑन 2’

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 13, 2016 1:32 pm

सबरंग