ताज़ा खबर
 

अस्पताल में भर्ती कराए गए दिलीप कुमार, अगले 72 घंटे अहम

93 साल के एक्‍टर को बुखार था और कई बार उल्टी भी हुई। वह निमोनिया से भी पीड़ित थे।
Author मुंबई | April 16, 2016 16:00 pm
दिलीप कुमार के जन्म का नाम मोहम्मद युसूफ खान है। (FILE PHOTO)

सांस लेने में दिक्कत की शिकायत के बाद शनिवार सुबह यहां के बांद्रा स्थित लीलावती अस्पताल में भर्ती कराए गए वेटरन एक्‍टर दिलीप कुमार को निगरानी में रखा गया है और उनका इलाज कर रहे चिकित्सकों ने कहा कि अभिनेता के लिए अगले 72 घंटे अहम हैं। लीलावती अस्पताल के डॉक्टर जलील पार्कर ने कहा, ‘‘अगले 72 घंटे अहम हैं। वह निगरानी में हैं। हम लोग लगातार नजर रखे हुए हैं। उनको आईसीयू में स्थानांतरित करना पड़ सकता है।’’सूत्रों ने कहा कि अभिनेता को तड़के करीब दो बजे लीलावती अस्पताल में भर्ती कराया गया।

कुमार की मौजूदा हालात के बारे में पूछे जाने पर पार्कर ने कहा, ‘‘जिस तरह भोजन को पचने में करीब तीन घंटे लगते हैं, उसी तरह उपचार पर मरीज की प्रतिक्रिया में भी समय लगता है।’ हालांकि पारिवारिक सूत्रों ने कहा था कि चिंता की कोई बात नहीं है। कुमार की हालत के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘वह सामान्य हैं। वह ठीक हैं। कोई गंभीर बात नहीं है।’’ इससे पहले पार्कर ने कहा, ‘‘उन्हें बुखार था और कई बार उल्टी भी हुई। वह निमोनिया से भी पीड़ित थे। उनकी श्वेत रक्त कोशिकाएं भी बढ़ी हुई थीं । हमने उन्हें अस्पताल में भर्ती करना बेहतर समझा।’’

93 वर्षीय अभिनेता दिलीप कुमार के जन्म का नाम मोहम्मद युसूफ खान था लेकिन बाद में उन्होंने फिल्मों में अपना नाम दिलीप कुमार रख लिया । छह दशक लंबे अपने कैरियर में अभिनेता ने ‘‘मधुमति’’, ‘देवदास’, ‘ मुगल ए आजम ’, ‘गंगा जमुना’, ‘राम और श्याम ’, ‘कर्मा’ तथा बहुत सी बेहतरीन फिल्मों में काम किया। ‘अंदाज’, ‘बाबुल’, ‘मेला’, ‘दीदार ’, ‘जोगन’ और अन्य फिल्मों में हताश नायक की भूमिकाओं के लिए उन्हें ‘ट्रेजडी किंग’ के नाम से जाना जाता है । उन्होंने आखिरी फिल्म 1998 में ‘किला’ की थी। कुमार को 2015 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था। इससे पूर्व उन्हें वर्ष 1991 में पद्म भूषण और 1994 में भारतीय सिनेमा में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए दादा साहब फाल्के पुरस्कार से नवाजा गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग