ताज़ा खबर
 

Poster Boys Box Office Collection: आखिरकार देओल भाईयों की फिल्म ने छुआ 10 करोड़ का आंकड़ा

Poster Boys Movie Box Office Collection: देओल भाई चार सालों बाद साथ में स्क्रीन पर लौटे हैं इसके बावजूद फिल्म को उस तरह का रिस्पॉन्स नहीं मिल रहा है जितनी की उम्मीद थी।
Poster Boys Box Office Collection: बॉक्स ऑफिस पर कुछ खास कमाल नहीं दिखा पा रही है पोस्टर ब्वॉयज।

सनी देओल और बॉबी देओल की फिल्म पोस्टर ब्वॉयज ने बॉक्स ऑफिस पर आखिरकार छठे दिन 10 करोड़ के आंकड़े को छू लिया है। 8 सितंबर को फिल्म सिनेमाघरों में रिलीज हुई थी। इस फिल्म को श्रेयस तलपड़े ने डायरेक्ट किया था जबकि समीर पाटिल ने इसे लिखा था। वहीं फिल्म में तनिष्क बागची ने म्यूजिक दिया है। फिल्म को सनी, दीप्ती और श्रेयस तलपड़े ने मिलकर प्रोड्यूस किया है। 2014 में आई समीर पाटिल की मराठी फिल्म पोस्टर ब्वॉयज का आधिकारिक हिंदी रीमेक है। फिल्म को दर्शकों से उतना रिस्पॉन्स नहीं मिल रहा है जितनी कि उम्मीद थी। छठवें दिन फिल्म का कमाई में गिरवाट दर्ज की गई।

अगर फिल्म के प्रदर्शन में किसी तरह का उछाल नहीं आया तो इसे फ्लॉप फिल्म का टैग मिल सकता है। फिल्म अपने ओपनिंग डे के कलेक्शन के बराबर भी कमाई नहीं कर पा रही है। शुक्रवार से बुधवार तक की कमाई के आंकड़ों को देखें तो फिल्म में तेजी से गिरावट आ रही है। शुक्रवार को फिल्म ने 1.751.75 करोड़ रुपए का बिजनेस किया था। शनिवार को फिल्म ने 37 प्रतिशत बढ़ोत्तरी के साथ 2.40 करोड़ रुपए कमाए, रविवार को 19 प्रतिशत के उछाल के साथ फिल्म ने 3.10 करोड़ रुपए कमाए, सोमवार को फिल्म ने 1.15 करोड़ और मंगलवार को 1 करोड़ रुपए की कमाई की। इसका कुल कलेक्शन मंगलवार तक 7.25 करोड़ रुपए हो गया है।

उम्मीद है कि फिल्म ने बुधवार को फिल्म की कमाई में बढ़ोत्तरी देखने को मिली और इसने 10 करोड़ के आंकड़े को छू लिया है। मराठी फिल्म में श्रेयस तलपड़े ने प्रोड्यूसर की भूमिका निभाई थी वहीं हिंदी रीमेक को उन्होंने डायरेक्ट किया है। बात करें कहानी की तो फिल्म में श्रेयस तलपड़े ने एक्टिंग के साथ ही डायरेक्शन का काम भी किया है।

फिल्म की कहानी उत्तर भारत के एक गांव पर आधारित है। जिसमें स्थानीय गुंडा (श्रेयस), सेनानिवृत्त सेना अधिकारी जगावर चौधरी (सनी) और स्कूल टीजर विनय (बॉबी) खुद को नसबंदी के एक पोस्टर पर देखकर हैरान रह जाते हैं। उनकी फोटो वाले ये पोस्टर पूरे गांव में बंट जाते हैं जिसकी वजह से उन्हें अपने परिवारवालों से विरोध और जिल्लत सहनी पड़ती है। सरकार की एक गलती की वजह से तीनों की जिदंगी बदल जाती है।

http://www.jansatta.com/entertainment/

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग