December 02, 2016

ताज़ा खबर

 

आजकल की‍ फिल्‍मों पर बोलीं जया बच्‍चन- शर्म नाम की चीज तो रह नहीं गई

जया बच्चन ने कहा कि आज के सिनेमा को देखकर परेशान हो जाती हूं। मन करता है किसी शांत जगह पर चली जाऊं।

Author October 26, 2016 20:57 pm
बॉलीवुड अभिनेत्री जया बच्चन।

बॉलीवुड अभिनेत्री जया बच्चन का कहना है कि एक वक्त था जब बॉलीवुड फिल्मा निर्माता केवल आर्ट बनाते थे और आज के वक्त केवल बिजनेस देखा जाता है। जया बच्चन ने बॉलीवुड की शख्सियत बिमल रॉय की तारीफ करते हुए आज की मूवीज के कंटेंट की तुलना 1950-60 के दशक की मूवीज से की। जया बच्चन मंगलवार को Jio MAMI 18th Mumbai Film Festival with Star के एक सेशन में शामिल हुई थीं। जया बच्चन ने कहा, ‘उस वक्त फिल्म निर्माता आर्ट बनाते थे, आज के वक्त केवल बिजनेस पर ध्यान दिया जाता है। हमारे चेहरे पर हर एक चीज फेंकी जा रही है। शर्म नाम की चीच तो है नहीं। अब केवल बॉक्स ऑफिस कलेक्शन, 100 करोड़ की फिल्में, फर्स्ट वीकएंड कलेक्शन के बारे में बात की जाती है। यह मेरी समझ से परे है।’

वीडियो- जानें पाकिस्तानी कलाकारों पर बैन पर अमिताभ बच्चन ने क्या बोला

साथ ही जया बच्चन ने पूछा कि आज के समय में सिनेमा में कितने चेहरे देश का प्रतिनिधित्व करते हैं? उनका मानना है कि आज के भारतीय सिनेमा में ज्यादात्तर करेक्टर पश्चिम से प्रभावित हैं। उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं पता कि ऐसा क्यों है। हो सकता है, वे अमीर देश हैं और उन्हें ज्यादा विकसित माना जाता है। लेकिन मेरा मानना है कि भारतीय ज्यादा प्रगतिशील हैं।’ साथ ही उन्होंने कहा कि कुछ फिल्में हैं जो कि भारतीय संस्कृति को दर्शाती हैं। उन्होंने कहा, ‘लोगों को अलीगढ़ और मसान पंसद आई क्योंकि इसमें रियल इंडिया और इंडिया की रियल समस्याओं के बारे में दिखाया गया। जब मैं आज के सिनेमा को देखती हूं तो परेशान हो जाती हूं। मन करता है कि कहीं शांत जगह पर चली जाऊं।’

Read Also: तस्वीर क्लिक करने पर जया बच्चन को क्यों आया गुस्सा, देखें Video

इस सेशन में जया बच्चन के साथ बिमल रॉय के बेटे जॉय रॉय भी थे। उन्होंने कहा कि आज के वक्त खलनायिका और एक नायिका में कोई फर्क नहीं है। पहले खलनायिका और नायिका को दिखाया जाता था। लेकिन आज के वक्त खलनायिका की जरूरत नहीं है। नायिका ही वह कर लेती है जो खलनायिका करती थी। वह छोटे कपड़े पहनती है और नाचती है, आइटम डांस करती है। साथ ही उन्होंने कहा, ‘रिजनल सिनेमा असली भारत दिखाता है। बॉलीवुड ने पैसों से शादी कर ली है। बॉलीवुड की मूवीज मुंबई के लोगों द्वारा बनाई जाती हैं। जो कि पश्चिमी लोगों से प्रभावित होते हैं। हालांकि, उनका सोचने का तरीका भी पश्चिमी लोगों जैसा ही है। वे देखते भी पश्चिमी सिनेमा हैं।’

Read Also: जानिए किस वजह से जया बच्चन की कायल हैं विद्या बालन?

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 26, 2016 8:52 pm

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

सबरंग