ताज़ा खबर
 

शत्रुघ्‍न स‍िन्‍हा के चेहरे पर हैं चार दाग, द‍िलचस्‍प है इनकी कहानी: ब‍िल्‍ली ने नोंचा था, नकली बाघ स‍िर पर ग‍िरा था…

कम ही लोगों को पता है क‍ि उनके चेहरे पर कुल चार दाग हैं। उससे भी कम लोग ये जानते होंगे क‍ि ये दाग कैसे बने। ये दाग उन्‍हें...

शॉटगन शत्रुघ्‍न स‍िन्‍हा को अच्छी डायलॉग डिलीवरी और अदाकारी के लिए तो हर कोई जानता है, लेकिन कम ही लोगों को पता है क‍ि उनके चेहरे पर कुल चार दाग हैं। उससे भी कम लोग ये जानते होंगे क‍ि ये दाग कैसे बने। ये दाग उन्‍हें बचपन से ही म‍िलते गए। पहले दाग की कहानी कुछ ऐसी है। शत्रु एक बार भाई की ट्राइसाइकिल चला रहे थे। अचानक गिर पड़े। माथे पर चोट लगी, जिसका दाग रह गया था।

जलन के चक्कर में पड़ा दूसरा दाग: दूसरा दाग उनके बचकानेपन और जलन के चक्कर में पड़ा। पिता तब चीनी मिट्टी का बाघ घर लाए थे। वह उनके ड्राइंग रूम की दीवार पर लटका रहता था। जब भी कोई उनके यहां आता, तो उसका ध्यान सबसे पहले उसी शोपीस पर जाता। शत्रु को यह बात समझ में नहीं आती थी कि आखिर बाघ ही क्यों सबको आकर्षित करता था। एक दिन दोपहर में वह एक लकड़ी से उसी को हिला-डुला रहे थे। अचानक वह उन पर गिर पड़ा। चोट भी लगी और दूसरा दाग भी माथे पर पड़ गया।

बिल्ली ने नोंचा, खून से सना रिक्शे का सीट कवर: शत्रु के चेहरे पर यह तीसरा दाग शायद ही कभी आपने गौर किया हो। यह उनके कान के पास है। बालों में छिप जाने की वजह से आमतौर पर यह नजर नहीं आता है। यह दाग बिल्ली के नोंचने से पड़ा था। जब बिल्ली ने उन पर हमला बोला था, तो घायल शत्रु को रिक्शे से अस्पताल ले जाया गया था। रास्ते में उनके कान से भयंकर ब्लीडिंग हुई थी, जिससे रिक्शे का सीट कवर भी सन गया था।

चेहरा शेव कर दिखाने के चक्कर में लगा कट: चौथे दाग की कहानी कुछ इस तरह है। पिता अमेरिका में थे। मां और आंटी काम में व्यस्त थीं, तभी शत्रु ने ब्लेड ली और अपनी छोटी कज़िन के शेव करने लगे। इस दौरान उसके कट लग गया। रोने लगी तो शत्रु बोले, मैं तुम्हें इसे चला कर बताता हूं। वह अपना चेहरा शेव करने लगे। इसी दौरान ब्लेड उनके होंठ के पास लग गया था, जिसके बाद खून निकलने लगा। तब प्लास्टिक सर्जरी के बारे में भी कम ही लोग जानते थे, लिहाजा दाग रह गया। ये चारों दाग पड़ने के पीछे की कहानी शत्रु ने खुद ”एनीथिंग बट खामोश” किताब में बयां की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on July 17, 2017 7:50 pm

  1. No Comments.
सबरंग