May 23, 2017

ताज़ा खबर

 

अनुराग कश्यप ने बताए राज, कहा-अर्जुन रामपाल के लिए मुझे छोड़कर चली गई थी वो

डायरेक्टर अनुराग कश्यप और अर्जुन रामपाल के बीच आई थी एक दिल्ली वाली लड़की। यह बात किसी और ने नहीं बल्कि खुद अनुराग कश्यप ने बताई है।

डायरेक्टर अनुराग कश्यप और अर्जुन रामपाल के बीच आई थी एक दिल्ली वाली लड़की। यह बात किसी और ने नहीं बल्कि खुद अनुराग कश्यप ने बताई है। हाल ही अनुराग कश्यप कॉलेज स्टूडेंट्स से मिलने हिंदू कॉलेज गए थे। वहां अनुराग के वेलकम के लिए वहां उन्हीं की फिल्म गैंग्स ऑफ वासेपुर से एक गाना, तार बिजली से पतले हमारे पिया बजाया जा रहा था। सभी स्टूडेंट्स अनुराग के आने से काफी एक्साइटेड थे। अनुराग कश्यप ने भी स्टूडेंट्स के साथ खूब इंजॉय किया और अपनी पुरानी यादें ताजा की। उन्होंने कहा, मजा आ रहा है, बहुत यादें जुड़ी हुई हैं इस जगह से। बता दें कि अनुराग कश्यप दिल्ली यूनीवर्सिटी के हंसराज कॉलेज से पढ़े हुए हैं। अनुराग असल में साइंटिस्ट बनना चाहते थे। लेकिन इम्तियाज अली से एक मुलाकात ने उनके सपने बदल दिए। इम्तियाज उस वक्त हिंदू कॉलेज में पढ़ते थे।

अपनी दोस्ती पर अनुराग ने कहा, वो इम्तियाज और सुनित (रामजस कॉलेज वाला दोस्त) ही थे जिन्होंने मेरे अंजर थिएटर के लिए इंटरेस्ट पैदा किया। मैं उसके पीछे घूमता था एक्टिंग के लिए और साल 1993 में हमने मुंबई आने का फैसला लिया। इस बात पर हमने बॉलीवुड के किंग शाहरुख खान को फॉलो किया था। हमें लगता था कि हम भी यह कर सकते हैं। इसी दौरान बातचीत में अनुराग ने अर्जुन रामपाल का नाम लिया। उन्होंने बताया, मिरांडा हाउस की एक लड़की ने अर्जुन के लिए मुझे छोड़ दिया था। इस वजह से मैं अर्जुन से नफरत करता था और हमने सात साल तक एक दूसरे से बात नहीं की थी। अनुराग जिस तरह हंस-हंस कर यह बात बता रहे थे। सभी स्टूडेंट्स भी उनकी बातों में खूब इंटरेस्ट ले रहे थे।

Force 2 ट्रेलर: दमदार रोल में दिखेंगे जॉन अब्राहम और सोनाक्षी सिन्हा

अनुराग ने कॉलेज के दौरान बतौर स्टूडेंट अपनी इन्सिक्यौरिटीज के बारे में भी बताया। उन्होंने बताया, मैंने कॉलेज के दिनों में रमन राघव की स्क्रिप्ट लिख ली थी। लेकिन मैं थोड़ा इंट्रोवर्ट था इसलिए मैंने अपना काम अपने तक ही रखा। सुनित था जिसने मेरे काम को बचाया।

अपनी ऑफबीट फिल्मों को लेकर पहचाने जाने वाले फिल्म मेकर अनुराग कश्यप ने सेंसरशिप को लेकर भी बात की। उन्होंने कहा कि सेंसर बोर्ड अध्यक्ष बदलने के साथ-साथ बदलता रहता है। उनके मुताबिक हमारी ऑडियंस इस तरह के कंटेंट के लिए तैयार नहीं है, जबकि हम कहते हैं कि हमारी ऑडियंस बच्ची नहीं है।

Read Also:पाकिस्तानी कलाकारों पर ये क्या कह गए इरफान खान

Read Also:इस फेमस एक्ट्रेस को कई बार करना पड़ा ‘कास्टिंग काउच’ का सामना, पूरी कहानी जानकर हैरान रह जाएंगे आप

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 5, 2016 3:51 pm

  1. No Comments.

सबरंग