ताज़ा खबर
 

फेयरनेस क्रीम पर सोनम कपूर और अभय देओल की ट्विटर वार पर बोले अनिल कपूर, वो संभाल लेगी, मुझे शामिल ना करें

अनिल कपूर के इस बयान से साफ है कि वो अपनी बेटी के सामर्थ्य से अच्छी तरह से वाकिफ हैं और चाहते हैं कि एक एडल्ट के तौर पर वो अपने मामले सुलझाएं।
Author नई दिल्ली | April 15, 2017 09:33 am
सोनम और अभय के ट्विटर वार पर अनिल ने कुछ भी कहने से किया इंकार। (Image Source: Indian Express)

मुंबई में आईफा वोटिंग वीकेंड के दौरान फिल्म इंडस्ट्री से अनिल कपूर पहले ऐसे शख्स थे जिन्होंने अपने दोस्तों के लिए मतदान किया। इवेंट के दौरान मुबारंका एक्टर ने मीडिया से बातचीत की। उन्होंने बताया कि वो बहुत खुश हैं क्योंकि इस बार आईफा का आयोजन न्यूयॉर्क में हो रहा है। गौरान्वित पिता ने अपनी बेटी के बारे में बात की जिन्हें 64वें राष्ट्रीय अवॉर्ड में नीरजा के लिए स्पेशल मेंशन मिला था। हालांकि जब उनसे सोनम और उनके आएशा को -स्टार अभय देओल के बीच जारी फेयरनेस क्रीम बहस पर टिप्पणी करने को कहा गया तो अनिल ने कहा- यह बहुत छोटी चीज है। मैं अपने बच्चों के किसी भी मामले में शामिल नहीं होता हूं और इसे बच्चों के बीच ही रहने दीजिए। केवल सोनम इस बारे में बात करने के लिए सही व्यक्ति है। अगर कोई गंभीर मसला है तो मैं उसपर बात करुंगा। इसलिए मुझे इस तरह के छोटे मामलों में शामिल ना करें। सोनम इस तरह की चीजों को सही तरीके से हैंडल कर सकती है।

अनिल कपूर के इस बयान से साफ है कि वो अपनी बेटी के सामर्थ्य से अच्छी तरह से वाकिफ हैं और चाहते हैं कि एक एडल्ट के तौर पर वो अपने मामले सुलझाएं। फेयरनेस क्रीम पर विवाद कुछ दिनो पहले ही शुरु हुआ है जब अभय देओल ने बॉलीवुड एक्टर्स की फेयरनेस क्रीम एंडोर्स करने की वजह से आलोचना की थी। अपने फेसबुक पोस्ट पर उन्होंने अपने विचार को सामने रखा और बॉलीवुड के बड़े सेलिब्रिटिज को काफी कुछ कहा। अभय ने जिन स्टार्स पर निशाना साधा था उनमें शाहरुख खान, सोनम कपूर, दीपिका पादुकोण, जॉन अब्राहम, शाहिद कपूर शामिल हैं।

अभय ने कहा था- फेयरनेस क्रीम के एड ना केवल बिना सोचे समझे कुछ भी दावे करते हैं। बल्कि यह आइडिया बेचते हैं कि गोरा रंग काले रंग से बेहतर है। इन कंपनियों के टॉप पर बैठे कोई अधिकारी आपको यह नहीं बताएंगे कि यह गलत और नस्लीय हैं।

अभय ने कहा, आप लोगों को इस आइडिया को स्वीकार करना बंद करना चाहिए कि किसी एक प्रकार की त्वचा दूसरी से बेहतर है। दुर्भाग्य की बात है कि अगर आप मैट्रीमोनियल साइट्स पर भी देखें तो किसी के शरीर की बनावट और रंग के बारे में किस तरह बताया जाता है। किसी की त्वचा के रंग को बताने के लिए डस्क शब्द का इस्तेमाल किया जाता है।

अभय देओल ने फेयरनेस क्रीम के विज्ञापन करने वाले शाहरुख खान, दीपिका पादुकोण, जॉन अब्राहम पर साधा निशाना

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.