ताज़ा खबर
 

अनिल कपूर को जब FTII ने किया था रिजेक्ट, तब साउथ फिल्मों में काम कर बने ‘परफेक्ट’

बॉलीवुड में पहचान बनाना लोहे के चने चबाने जैसा है। यहां लोगों को सालों बीत जाते हैं, लेकिन फिर भी सफलता गिने-चुने चेहरों को मिलती है। सिनेमाई करियर में कदम रखने से पहले उन्हें इसका ककहरा सीखना पड़ता है। शुरुआती पड़ाव सिनेमा की पढ़ाई से जुड़े संस्थानों से होता है। इन्हीं में पुणे के फिल्म […]

बॉलीवुड में पहचान बनाना लोहे के चने चबाने जैसा है। यहां लोगों को सालों बीत जाते हैं, लेकिन फिर भी सफलता गिने-चुने चेहरों को मिलती है। सिनेमाई करियर में कदम रखने से पहले उन्हें इसका ककहरा सीखना पड़ता है। शुरुआती पड़ाव सिनेमा की पढ़ाई से जुड़े संस्थानों से होता है। इन्हीं में पुणे के फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (FTII) का नाम आता है। अपने यहां फिल्मों में काम करने से पहले ज्यादातर लोग यहां से सिनेमा का कहकरा सीखना चाहते हैं, लेकिन सबके ख्वाब मुक्कमल नहीं होते।

बॉलीवुड के झक्कास एक्टर से एक ऐसा ही रोचक वाकया जुड़ा है। शुरुआती दिनों में अनिल भी FTII में पढ़ना चाहते थे, लेकिन उन्हें दाखिला नहीं मिला था। तब उन्हें करियर की खातिर साउथ की फिल्मों में काम करना पड़ा था। यहीं, उन्होंने अपनी एक्टिंग स्किल्स को तराशा और खुद को हिंदी फिल्मों के लिए परफेक्ट बनाया। किस्सा की पृष्ठभूमि कुछ यूं है। अनिल के पिता सुरेंद्र कपूर फिल्मकार जरूर थे। मगर परिवार की माली हालत सही नहीं थे। आलम यह था कि उनका परिवार राजकपूर के चेंबूर वाले गैराज में रहता था।

अनिल उन दिनों फिल्मों में कदम रखने ही वाले थे। इससे पहले वह पूरी तरह से फिल्मों के होते, वह देश के जाने-माने एफटीटीआई में दाखिला चाहते थे। उन्होंने वहां के लिए आवेदन भी किया, लेकिन बदकिस्मती से उन्हें रिजेक्ट कर दिया गया। दाखिला न मिलने पर वह थोड़े निराश हुए। लेकिन हार नहीं मानी। घुटने नहीं टेके। हालांकि, अनिल इससे पहले 15 साल की उम्र में फिल्म तू पायल मैं गीत में काम कर चुके थे। यह शशि कपूर की फिल्म थी।

इसके बाद वह उमेश मेहरा की फिल्म हमारे तु्म्हारे में लीड रोल में नजर आए। मगर रोल छोटा था, इसलिए खासा सफलता न मिली। अब अनिल के पास फिल्मों की कमी थी। सो उन्हें साउथ की फिल्में करनी पड़ी थीं। साल 1984 में अनिल ने फिल्म मशाल से पहचान बनाई थी, जिसके लिए उन्हें बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर का अवॉर्ड मिला था। इसके बाद अनिल के करियर का ग्राफ चढ़ा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.