ताज़ा खबर
 

आमिर खान को ‘दंगल’ सिखाने वाले कोच को कुश्ती फेडरेशन ने थमाया नोटिस

पटेल ने लिखा था कि कुश्ती के अंतर्राष्ट्रीय संघठन यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग ने कुश्ती के नियमों में कई जरूरी बदलाव किए हैं लेकिन WFI ने आधे-अधूरे नियमों को ही लागू किया है।
Author नई दिल्ली | September 15, 2017 12:45 pm
अर्जुन पुरस्कार विजेता कोच कृपाशंकर ने गुरुवार को एक अखबार से बातचीत में कहा कि उन्होंने वह फेसबुक पोस्ट भारतीय कुश्ती के हित में लिखी थी जिसे बेवजह तूल दे दिया गया।

बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट यानि आमिर खान को उनकी सुपरहिट फिल्म दंगल के लिए कुश्ती सिखाने वाले पहलवान कृपाशंकर पटेल अपनी एक फेसबुक पोस्ट के चलते विवादों में आ गए हैं। उन्होंने यह पोस्ट भारतीय कुश्ती संघ (डब्लूएफआई) पर अपने निजी विचार लिखते हुए की थी जिसमें उन्होंने फेडरेशन की तुलना खच्चर से कर दी। पटेल की यह गुस्ताखी फेडरेशन को जरा भी रास नहीं आई और कृपाशंकर को कारण बताओ नोटिस दे दिया गया। अर्जुन पुरस्कार विजेता कोच कृपाशंकर ने गुरुवार को एक अखबार से बातचीत में कहा कि उन्होंने वह फेसबुक पोस्ट भारतीय कुश्ती के हित में लिखी थी जिसे बेवजह तूल दे दिया गया।

बता दें कि 12 सितंबर को किए अपने फेसबुक पोस्ट में पटेल ने लिखा था कि कुश्ती के अंतर्राष्ट्रीय संघठन यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग ने कुश्ती के नियमों में कई जरूरी बदलाव किए हैं लेकिन WFI ने आधे-अधूरे नियमों को ही लागू किया है। पटेल ने लिखा- क्या आपको पता है गुजरात के कच्छ के रण में एक अनोखा प्राणी पाया जाता है, जो न तो गधा है और न घोड़ा। यह दोनों के बीच का खच्चर होता है। भारतीय कुश्ती संघ ने भी कुछ इसी तरह का फैसला कुश्ती के नियमों पर किया है। पटेल के इस पोस्ट को लिखे जाने के अगले ही दिन यानि 13 सितंबर को फेडरेशन द्वारा नोटिस थमा दिया गया था।

पटेल ने फेडरेशन द्वारा नोटिस दिए जाने की बात की पुष्टि की है लेकिन उन्होंने अब तक इस नोटिस का कोई जवाब नहीं भेजा है। फेडरेशन ने नोटिस में पूछा है कि उन पर 6 साल के लिए पाबंदी क्यों न लगा दी जाए? इस पर पटेल का कहना है कि मैंने सोशल मीडिया के माध्यम से जो कुछ भी कहा वह भारतीय कुश्ती संघ के हित में ही था। फिर भी मेरी पोस्ट से किसी को बुरा लगा हो तो मैं माफी चाहता हूं। मालूम हो कि पटेल ने पिछले साल रिलीज हुई आमिर खान की फिल्म दंगल के लिए आमिर खान को कुश्ती के दाव पेंच सिखाए थे।

http://www.jansatta.com/entertainment/

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग