ताज़ा खबर
 

फिर मुश्किल में अखिलेश यादव के मंत्री गायत्री प्रजापति, सुप्रीम कोर्ट ने उनपर रेप का केस दर्ज करने का दिया आदेश

पिछले साल एक महिला ने गायत्री प्रजापति पर बलात्कार का आरोप लगाया था लेकिन अभी तक उस मामले में प्राथमिकी दर्ज नहीं हो सकी थी।
रेप के आरोपी गायत्री प्रजापति फरार चल रहे थे (फाइल फोटो)

अखिलेश यादव की सरकार में कैबिनेट मंत्री और अमेठी से समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार गायत्री प्रजापति की मुश्किलें बढ़ गई हैं। सुप्रीम कोर्ट ने उनके खिलाफ बलात्कार के एक मामले में प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया है। पिछले साल एक महिला ने गायत्री प्रजापति पर बलात्कार का आरोप लगाया था लेकिन अभी तक उस मामले में प्राथमिकी दर्ज नहीं हो सकी थी। इससे निराश महिला ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। महिला ने अपनी याचिका में आरोप लगया है कि उसकी मुलाकात गायत्री प्रजापति से तीन साल पहले हुई थी, जहां उसने चाय में नशीला पदार्थ मिलाकर बेहोशी की स्थिति में उसके साथ दुष्कर्म किया गया था।

महिला ने ये भी आरोप लगाया है कि मंत्री ने न केवल रेप किया बल्कि उसकी अश्लील तस्वीरें भी खीचीं। और बाद में उन्हीं तस्वीरों के आधार पर ब्लैकमेल करते हुए गायत्री प्रजापति ने कई बार दुष्कर्म किया।

उत्तर प्रदेश की सियासत में समाजवादी कुनबे में खासकर मुलायम सिंह यादव के काफी करीब माने जाने वाले गायत्री प्रजापति का नाम पहली बार विवोदों में नहीं आया है। इससे पहले सपा के पारिवारिक घमासान में भी वो उस वक्त चर्चा में आए थे जब मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने उन्हें मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर दिया था लेकिन बाद में मुलायम सिंह के आशीर्वाद की बदौलत फिर से शपथ दिलाई गई। शपथ ग्रहण समारोह में मुलायम सिंह का पैर छूते उनकी तस्वीर खूब वायरल हुई थी।

इसके अलावा राज्य में खनन माफिया से गठजोड़ रखने के भी उनपर आरोप लगते रहे हैं। हाल ही में उन पर आदर्श चुनावी आचारसंहिता के उल्लंघन का भी आरोप लग चुका है। आरोप है कि गायत्रा प्रजापति ने कानपुर से 4000 साड़ियां अमेठी मंगवाई थीं। पुलिस ने इन साड़ियों को बरामद किया था। उसके बिल पर गायत्री प्रजापति का नाम था। इस मामले में भी उनपर केस दर्ज हुआ है।

वीडियो देखिए- 4 मार्च,1984 को 'ऐसे हुआ था मुलायम सिंह यादव पर जानलेवा हमला'

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग