ताज़ा खबर
 

यूपी और बिहार चुनाव की ये 6 समानताएं बढ़ा सकती हैं बीजेपी की बेचैनी

सपा-कांग्रेस गठबंधन से लेकर, स्टेट यूनिट की नाराजगी और नेताओं की बयानबाजी तक, ये समानताएं बीजेपी के लिए अच्छे संकेत नहीं हैं
Author February 1, 2017 12:17 pm
यूपी बीजेपी चीफ केशव प्रसाद मौर्य व अन्य नेताओं के साथ भाजपा अध्यक्ष अमित शाह यूपी चुनाव के मद्देनजर मेनिफेस्टो जारी करते हुए। (PTI Photo)

यूपी चुनाव से पहले यह सिर्फ कांग्रेस और समाजवादी पार्टी का गठबंधन नहीं है जो बिहार चुनावों की याद दिलाता है, बल्कि वर्तमान समय में ऐसे कई समीकरण हैं जो यूपी और बिहार चुनाव में समानता दिखाते हैं।

1. लीडरशिप: बिहार चुनाव में हार का सामना करने वाली बीजेपी ने तब भी मुख्यमंत्री उम्मीदवार का नाम का ऐलान नहीं किया था, ठीक यूपी चुनाव में भी ऐसा ही हो रहा है। उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री चेहरा पेश ना करने के कारण यह चुनाव “प्रधानंत्री नरेंद्र मोदी बनाम अखिलेश यादव” बन गया है। वहीं बिहार में “मोदी बनाम नीतीश कुमार” था। यूपी चुनाव के लिए बीजेपी के कुछ पोस्टर में लिखा गया है, “माया, मुलायम बार बार, अबकी बार मोदी सरकार.”

2. स्टेट यूनिट की नाराजगी: टिकट वितरण को लेकर यूपी में कई जगहों पर राज्य की यूनिट ने बीजेपी आलाकमान का विरोध किया गया है। 2015 के बिहार चुनाव में हालांकि किसी ने भी खुलकर विरोध नहीं किया था, लेकिन यूपी चुनाव में कई नेताओं के बयान में टिकट बंटवारे को लेकर गुस्सा साफ देखा जा सकता है।

3. वर्तमान मुख्यमंत्री की छवि: अगर आप यूपी के एक आम वोटर से बात करेंगे तो वह कहेगा कि “पीएम मोदी की लहर है” लेकिन फिर यह भी सुनने को मिलेगा, “लेकिन अखिलेश ने भी अच्छा काम किया है, बस थोड़ा गुंडा राज जरूर रहा।” कुछ यही प्रतिक्रिया बिहार में भी थी।

4. गठबंधन: बिहार की तरह यूपी में महागठबंधन तो नहीं हुआ लेकिन कांग्रेस और समाजवादी पार्टी का एक साथ आना बीजेपी के लिए हैरान कर देने वाला रहा। बिहार चुनाव में भाजपा नेता आखिरी समय तक यही उम्मीद कर रहे थे कि नीतीश और लालू एक साथ नहीं आएंगे। लेकिन दोनों साथ आए और कांग्रेस भी उसमें शामिल हो गई थी।

5. बयानबाजी: नवंबर 2015 में भाजपा के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने एक्टर शाहरुख खान को “देशद्रोही” कहा था और आरोप लगाया था कि शाहरुख की आत्मा पाकिस्तान में रहती है। अब जैसे ही यूपी चुनाव का प्रचार शुरू हुआ, इस बार भी विजयवर्गीय ने शाहरुख खान की फिल्म रईस को लेकर विवादित बयान दिया है।

6. ओपीनियन पोल: बिहार चुनाव से एक महीने पहले किए गए अधिकतर ओपीनियन पोल में बीजेपी की जीत दिखाई गई थी। ठीक उसी तरह यूपी चुनाव से पहले आए ओपीनियन पोल में भाजपा की सरकार बनती दिख रही है।

बजट से जुड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब: कांग्रेस उम्मीदवार की रैली के के पास विस्फोट, नाबालिग समेत 3 की मौत

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.