ताज़ा खबर
 

उत्तर प्रदेश चुनाव: साध्वी निरंजन ज्योति का सरकार बनाने के लिए बसपा से हाथ मिलाने से इंकार

साध्वी निरंजन ज्योति ने कहा कि बसपा धर्म के नाम पर वोट मांग रही है। चुनाव आयोग को इस पर ध्यान देना चाहिए।
Author कानपुर | February 14, 2017 15:57 pm
केंद्रीय मंत्री साध्वी निंरजन ज्योति। (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के बाद जरूरत पड़ने पर बहुजन समाज पार्टी के साथ सरकार बनाने की किसी भी संभावना से इनकार करते हुये केन्द्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने मंगलवार (14 फरवरी) को कहा कि सपा और बसपा दोनों असामाजिक तत्वों और भ्रष्टाचारियों की पार्टियां हैं और उनसे हाथ मिलाने का कोई सवाल ही नहीं उठता। साध्वी ने कहा कि कांग्रेस ने इन दोनों दलों से हाथ मिलाया हुआ है, तभी तो इन्होंने केन्द्र की पूर्ववर्ती संप्रग सरकार को समर्थन दिया था। उन्होंने आरोप लगाया, ‘समाजवादी पार्टी में चार महीने तक चला पारिवारिक ड्रामा एक पूर्व नियोजित कार्यक्रम था। यह केवल अखिलेश यादव की प्रदेश में खराब हो गयी छवि को सुधारने की कवायद थी। यह जरूरी था क्योंकि पिछले चार वर्ष में गुंडागर्दी के कारण सपा की छवि बहुत खराब हो गयी थी।’

साध्वी निरंजन ज्योति मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशियों के पक्ष में चुनाव प्रचार के लिए कानपुर में थीं। उससे पहले मंगलवार सुबह उन्होंने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था पूरी तरह से काबू से बाहर है। भ्रष्टाचार का बोलबाला है और विकास कार्य ठप पड़े हैं।’ उन्होंने कल्याण सिंह के समय की भाजपा सरकार को याद करते हुये कहा कि उस समय असामाजिक तत्व या तो शहर छोड़कर चले गये थे या जेल में थे। लेकिन सपा, बसपा की सरकारों में ये असामाजिक तत्व सत्ता में वापस आ जाते हैं। उन्होंने कहा कि बसपा सुप्रीमो मायावती कहती हैं कि सत्ता में आने पर वह सपा के असामाजिक तत्वों को जेल भेजेंगी, लेकिन इतनी बार सत्ता में आने के बावजूद कोई असामाजिक तत्व जेल नहीं गया। बल्कि इस बार चुनाव आते ही उन्होंने कई असामाजिक तत्वों-माफिया को अपनी पार्टी में शामिल कर लिया।

केन्द्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने कहा कि बसपा धर्म के नाम पर वोट मांग रही है। चुनाव आयोग को इस पर ध्यान देना चाहिए। सपा एक जाति विशेष और सांप्रदायिक आधार पर वोट मांगती है, जबकि भाजपा सबका साथ सबका विकास के नाम पर वोट मांगती है। उन्होंने कहा कि अगर उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार बनती है तो किसी का तुष्टीकरण नहीं होगा बल्कि सबका विकास होगा। महिलाओं और लड़कियों की सुरक्षा होगी और उन्हें शिक्षित कर आत्मनिर्भर बनाया जाएगा। युवाओं को रोजगार मिलेगा और किसानों का खास ख्याल रखा जाएगा। साध्वी ने कहा कि आज समाजवादी पार्टी और कांग्रेस प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उनके ढाई साल के काम का हिसाब मांगती हैं। मोदी 2019 के लोकसभा चुनाव में अपने पांच वर्ष के काम का हिसाब देंगे लेकिन उससे पहले सपा अपने पांच साल का और कांग्रेस केन्द्र में 10 साल के कामकाज का हिसाब दे। बाद में एक लड़की की हत्या में सुल्तानपुर के एक विधायक की कथित संलिप्तता के संबंध में सवाल करने पर उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार आई तो ऐसे लोग जेल की सलाखों के पीछे होंगे।

उत्तर प्रदेश चुनाव की और ख़बरों के लिए क्लिक करें…

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2017: जानिए राज्य के लोगों की राय

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.