ताज़ा खबर
 

UP Assembly Election 2017 Phase 1: यूपी विधानसभा चुनाव: पहले चरण में छिटपुट झड़प के बीच 73 सीटों पर 64 फीसदी मतदान

UP Election Phase 1 Live: पहले चरण में उत्तर प्रदेश के 15 जिलों की कुल 73 सीटों पर मतदान हुआ है।
मथुरा में वोट डालने के बाद मतदान केंद्र से बाहर आती युवतियां। ( Photo Source: PTI)

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों के पहले चरण में पश्चिमांचल के 15 जिलों की कुल 73 सीटों पर शनिवार को छुटपुट घटनाओं के बीच औसतन करीब 64 प्रतिशत वोट पड़े। राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी टी. वेंकटेश ने मतदान सम्पन्न होने के बाद देर शाम आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि पहले चरण में औसतन करीब 64 प्रतिशत औसत मतदान हुआ। वर्ष 2012 के विधानसभा चुनाव के पहले चरण में 61.04 प्रतिशत मतदान हुआ था।

इस दौरान बुलंदशहर में लगभग 64 प्रतिशत, एटा में 73, फिरोजाबाद में 63, नोएडा में 60, गाजियाबाद में 57, हापुड़ में 70, हाथरस में 62, कासगंज में 61, मथुरा में 68, मेरठ में 65, मुजफ्फरनगर में 65, शामली में 63, आगरा में 64, अलीगढ़ में 65 तथा बागपत में करीब 67 प्रतिशत मतदान हुआ।

उन्होंने बताया कि पहले चरण में मतदाताओं ने काफी जोश-ओ-खरोश से मतदान किया। आयोग के निर्देशों के अनुसार जो भी मतदाता शाम पांच बजे तक मतदान केन्द्र में उपस्थित हुआ, उसे वोट डालने दिया गया। पहले चरण में शामली, मुजफ्फरनगर, बागपत, मेरठ, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, हापुड़, बुलन्दशहर, अलीगढ़, मथुरा, हाथरस, आगरा, फिरोजाबाद, एटा और कासगंज जिलों की 73 सीटों पर मतदान हुआ। मतदान केंद्रों पर सुबह से ही मतदाताओं की लम्बी-लम्बी कतारें देखी गयीं।

पहले चरण में विभिन्न पार्टियों के कई छत्रपों की प्रतिष्ठा दांव पर थी। नोएडा सीट पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह के पुत्र पंकज सिंह, कैराना सीट से भाजपा सांसद हुकुम सिंह की बेटी मृगांका, मथुरा सीट से भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा तथा कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता प्रदीप माथुर, सरधना सीट से भाजपा के विवादास्पद विधायक संगीत सोम तथा थाना भवन सीट से सुरेश राणा समेत कुल 839 उम्मीदवारों का चुनावी भाग्य इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीनों में बंद हो गया। मतदान के दौरान कुछ जगहों से झड़पें होने की खबरें मिली हैं।

बागपत से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार शहर की बाघू कालोनी में दो समुदायों के बीच एक समुदाय को मतदान से रोकने की कोशिश किये जाने तथा मतदान पर्चियां छीने जाने पर आपस में पथराव तथा मारपीट हुई। इस घटना में 10 लोग घायल हो गये। मौके पर पहुंची पुलिस ने सभी घायलों को अस्पताल पहुंचाया।

बागपत के ही जिले के बड़ौत स्थित लोयन गांव में बूथ संख्या 35 पर राष्ट्रीय लोकदल के कार्यकर्ताओं ने दलित मतदाताओं को रोका और उनकी मतदान पर्ची फाड़ दी। इस मामले में तीन रालोद कार्यकर्ताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

मेरठ से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार सरधना सीट से भाजपा विधायक संगीत सोम के भाई गगन सोम को फरीदपुर गांव स्थित मतदान केंद्र के पास पिस्टल ले जाने पर हिरासत में लिया गया। मेरठ में ही मंत्री शाहिद मंजूर के काफिले पर बसपा समर्थकों द्वारा पथराव किये जाने की खबर है। इसके अलावा कुछ अन्य मतदान केंद्र पर भी हंगामे की खबरें हैं। शामली में कुछ दबंगों द्वारा मतदाताओं को वोट डालने से रोके जाने की सूचना मिली है।

पहले चरण के चुनाव में एक करोड़ 17 लाख महिलाओं समेत कुल दो करोड़ 60 लाख 17 हजार 81 मतदाता कुल 839 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला कर सकेंगे। मतदान के लिये 14 हजार 514 केंद्र तथा 26 हजार 823 मतदान स्थल बनाये गये।

इस चरण में 5140 मतदान केंद्रों को संवेदनशील माना गया। स्वतंत्र और निष्पक्ष मतदान के लिये 826 कम्पनी केंद्रीय बल तथा पुलिस के 8011 उपनिरीक्षक, 4823 मुख्य आरक्षी तथा 60 हजार 289 आरक्षियों की तैनाती की गई। इसके अलावा 2268 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 285 जोनल मजिस्ट्रेट तथा 429 स्टैटिक मजिस्ट्रेट भी तैनात किये गये।

पहले चरण में मतदाताओं की संख्या के लिहाज से गाजियाबाद का साहिबाबाद सबसे बड़ा विधानसभा क्षेत्र है, वहीं एटा का जलेसर सबसे छोटा क्षेत्र है। आगरा दक्षिण सीट से सबसे ज्यादा 26 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं, वहीं हस्तिनापुर से सबसे कम छह प्रत्याशी मैदान में हैं।

यूपी चुनाव की बाकी खबरों के लिए क्लिक करें

देखिए संबंधित वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. S
    Sarika
    Feb 11, 2017 at 4:38 pm
    Maatdan ki Jo photo daali hai, apki talve chatnewali manasikta dikhati hai!
    (0)(0)
    Reply