ताज़ा खबर
 

उत्तर प्रदेश चुनाव: आखिरी चरण का मतदान आज, सबकी निगाहें वाराणसी पर

राज्य की सत्ता पर 15 साल बाद फिर से भाजपा कब्जा जमाने की उम्मीद कर रही है।
Author वाराणसी | March 8, 2017 05:08 am
बनारस हिंदू विश्वविद्यालय

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के आखिरी चरण में बुधवार को 40 सीटों के लिए वोट डाले जाएंगे। लेकिन सारी निगाहें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी पर टिकी हुई हैं। मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र में अभूतपूर्व स्तर का चुनाव प्रचार किया है, जहां विधानसभा की पांच सीटें हैंं। उन्होंने शहर में लगातार तीन दिन चुनाव प्रचार किया। उनके प्रतिद्वंद्वी मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (सपा) और उनके सहयोगी राहुल गांधी (कांग्रेस) ने जबरदस्त प्रचार कर शहर में प्रधानमंत्री को दरकिनार करने की कोशिश की। उन्होंने एक बड़ा रोड शो भी किया।

वहीं, राज्य की सत्ता पर 15 साल बाद फिर से भाजपा कब्जा जमाने की उम्मीद कर रही है। पार्टी प्रमुख अमित शाह और अन्य वरिष्ठ नेताओं ने चुनाव से पहले हफ्तों यहां डेरा डाले रखा। पर, मोदी ने कोई कसर नहीं छोड़ी और उन्होंने अपने निर्वाचन क्षेत्र के कई इलाकों का दौरा किया। उन्होंने अपनी पार्टी के उम्मीदवारों के लिए वोट मांगते हुए एक के बाद एक दो रोड शो किए, चार जनसभाओं को संबोधित किया, एक प्रभावशाली आश्रम में गए और पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री को श्रद्धांजलि अर्पित की। वाराणसी में फिलहाल भाजपा के पास तीन और सपा के पास दो सीटें हैं। लेकिन भाजपा मोदी के गढ़ से प्रतिद्वंद्वी पार्टियों को निकाल बाहर करने की एक प्रतिबद्ध कोशिश कर रही है।हालांकि, सपा-कांग्रेस गठजोड़ होने से भाजपा को कड़ी चुनौती मिल रही है और अखिलेश व राहुल का शहर के बीचोंबीच से हुए एक जबरदस्त रोड शो ने भगवा खेमे में कुछ चिंताएं पैदा कर दी हैं। राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि कांटे की टक्कर और चुनाव प्रचार के चलते मतदान प्रतिशत अधिक रहना चाहिए।

जिन सीटों पर चुनाव होने जा रहा है, उनमें तीन केंद्रीय मंत्रियों- महेंद्र नाथ पांडेय, अनुप्रिया पटेल और मनोज सिन्हा- के संसदीय क्षेत्र भी शामिल हैं। पांडेय, पटेल और सिन्हा क्रमश: चंदौली, मिर्जापुर और गाजीपुर से सांसद हैं। पिछले विधानसभा चुनाव में 40 सीटों में सपा ने 23, बसपा ने पांच, भाजपा ने चार और कांग्रेस ने तीन सीटें जीती थीं, जबकि शेष सीटें अन्य ने जीती थी।

 

 

लखनऊ में चल रही संदिग्ध आतंकियों से मुठभेड़; सरेंडर करने को तैयार नहीं आतंकी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग