April 24, 2017

ताज़ा खबर

 

योगी आदित्यनाथ को पिता की सलाह- सब धर्मों का आदर करो, सबका साथ-सबका विकास के सूत्र वाक्य को पकड़ो

जब आदित्यनाथ सीएम पद की शपथ ले रहे थे तो यह देख उनके पिता खुशी से आंसू निकल पड़े

वन विभाग से सेवानिवृत्त हुए योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट और माता सावित्री देवी। (PTI Photo)

योगी आदित्यनाथ को यूपी का नया मुख्यमंत्री बनाया गया है। जब आदित्यनाथ सीएम पद की शपथ ले रहे थे तो यह देख उनके पिता आनंद बिष्ट के खुशी से आंसू निकल पड़े। वन विभाग से सेवानिवृत्त हुए उनके पिता आनंद सिंह बिष्ट ने अपने पुत्र के सबसे बड़े राज्य की जिम्मेदारी संभालने पर खुशी जाहिर की और कहा कि योगी बचपन से ही प्रतिभाशाली थे और उनमें शुरू से ही जनता की सेवा करने का जज्बा था।

रविवार को लखनऊ में हुए शपथ ग्रहण समारोह को टीवी पर देखते हुए हिंदुत्ववादी नेता योगी को उनके पिता ने एक सलाह भी दी। एक अंग्रेजी अखबार से उन्होंने कहा, “मैं उम्मीद करता हूं वह सभी धर्मों का आदर करेगा। उसे भाजपा के सूत्र वाक्य- सबका साथ, सबका विकास पर काम करना चाहिए। इसमें हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई, गरीब, अमीर सब आते हैं। अब जिम्मेदारी बड़ी हो गई है।” योगी आदित्यनाथ की ‘हिंदू कट्टरपंथी’ छवि पर उनके पिता ने कहा कि यह उनके गुरु महंत अवैद्यनाथ से प्रेरित होने की वजह से हुआ है। उन्होंने कहा, “मैं उन्हें एक विकास उन्मुख व्यक्ति के रूप में जानता हूं। उनकी अच्छी बात यह है कि वह अपने लक्ष्य से कभी भटकते नहीं हैं।”

उनके पिता आनंद सिंह ने बताया कि वह उनके गोरखपुर जाने के पक्ष में नहीं थे लेकिन उनके दृढ़ संकल्प को देखते हुए वह उन्हें रोक नहीं पाये। योगी की मां सावित्री देवी ने भी भावुक होते हुए कहा कि उनका स्वभाव शुरू से ही लोगों की मदद और सेवा वाला रहा है और वह अपने पुत्र के इतने ऊंचे पद पर पहुंचने से बहुत खुश हैं। योगी की बहन और मामा ने भी कहा कि उन्हें उम्मीद है कि अपनी जनसेवा के मिशन में और सफलता पायेंगे और उनकी कीर्ति दूर-दूर तक फैलेगी। चार भाइयों और तीन बहनों में दूसरे नम्बर के योगी के उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने की सूचना मिलते ही पूरे गांव में जश्न का माहौल छा गया और गांव वालों ने आतिशबाजी करके खुशी का इजहार किया।

बीजेपी सांसद योगी आदित्यनाथ बोले- “पश्चिमी उत्तर प्रदेश की स्थिति 1990 के कश्मीर जैसी”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on March 20, 2017 9:31 am

  1. No Comments.

सबरंग