ताज़ा खबर
 

अखिलेश ने सपा की महिला सभा अध्‍यक्ष को पार्टी से किया बाहर, सपा-कांग्रेस गठबंधन के खिलाफ बीजेपी से चुनाव लड़ रहा है बेटा

रंजना के बेटे हर्षवर्धन बाजपेई यूपी चुनावों में भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर इलाहाबाद उत्‍तरी सीट से चुनाव लड़ रहे हैं।
सुल्तानपुर चुनावी रैली में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव। (REUTERS/Pawan Kumar/24 Jan, 2017)

समाजवादी पार्टी ने मंगलवार को अपनी महिला सभा की राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष रंजना बाजपेई को पद और पार्टी से हटा दिया। रिपोर्ट्स के अनुसार, उन्‍हें ‘पार्टी विरोधी गतिविधियों’ के चलते राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने बाहर का रास्‍ता दिखाया है। सपा के यूपी चीफ नरेश उत्‍तम ने कहा, ”उन्‍हें (रंजना) उनकी समस्‍त जिम्‍मेदारियों से मुक्‍त कर दिया गया है और पार्टी से बाहर कर दिया गया है।” रंजना के बेटे हर्षवर्धन बाजपेई यूपी चुनावों में भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर इलाहाबाद उत्‍तरी सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। रंजना पर सपा-कांग्रेस गठबंधन के उम्‍मीदवार अनुराग नारायण सिंह की ‘चुनावी संभावनाओं को धूमिल करने में अपने बेटे की मदद’ करने का आरोप लगाया गया है। इलाहाबाद में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के चौथे चरण के तहत 23 फरवरी को मतदान होना है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के संसदीय निर्वाचन क्षेत्र रायबरेली के साथ-साथ प्रतापगढ़, कौशाम्बी, इलाहाबाद, जालौन, झांसी, ललितपुर, महोबा, बांदा, हमीरपुर, चित्रकूट और फतेहपुर जिलों की 53 सीटों पर आगामी 23 फरवरी को मतदान होगा।

सपा अध्यक्ष मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने चौथे चरण के चुनाव प्रचार के अंतिम दिन संगम नगरी इलाहाबाद में संयुक्त रूप से रोडशो किया। इसी दिन भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने भी इलाहाबाद में रोडशो किया। इस चरण में विभिन्न पार्टियों के शीर्ष नेताओं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, सपा अध्यक्ष मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, पार्टी की स्टार प्रचारक प्रियंका गांधी, बसपा मुखिया मायावती, गृह मंत्री राजनाथ सिंह समेत अनेक केन्द्रीय मंत्रियों ने अपनी-अपनी पार्टियों के पक्ष में प्रचार कार्य में पूरी ताकत झोंक दी है।

2012 में चौथे चरण में इन 53 सीटों पर हुए चुनाव में सपा को 24 सीटों पर सफलता प्राप्त हुई थी। इसके अलावा बसपा ने 15, कांग्रेस ने छह, भाजपा ने पांच तथा पीस पार्टी ने तीन सीटें जीती थीं। चौथे चरण के चुनाव में जिन प्रमुख प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला होगा, उनमें कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य प्रमोद तिवारी की बेटी आराधना मिश्रा (रामपुर खास), बाहुबली निर्दलीय प्रत्याशी रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया (कुंडा), बाहुबली विधायक अखिलेश सिंह की बेटी कांग्रेस प्रत्याशी अदिति सिंह (रायबरेली), विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष स्वामी प्रसाद मौर्य के बेटे उत्कर्ष मौर्य (ऊंचाहार), सपा के वरिष्ठ नेता रेवती रमण सिंह के बेटे उज्ज्वल रमण सिंह (करछना) तथा विधानसभा में विपक्ष के नेता गयाचरण दिनकर (नरैनी) शामिल हैं।

“सपा- कांग्रेस का गठबंधन न होता, तो बीजेपी यूपी चुनावों में 300 से ज्यादा सीटें जीतती”: राजनाथ सिंह

अखिलेश यादव ने अमिताभ बच्चन से कहा- "गुजरात के गधों का प्रचार करना बंद करें"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग