March 26, 2017

ताज़ा खबर

 

अरविंद केजरीवाल ‘ईवीएम घोटाले’ को बता रहे पंजाब में हार का कारण, आप विधायक बना रहे अपनी अलग लिस्ट

पंजाब विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को केवल 20 सीटों पर जीत मिली है।

Author March 15, 2017 21:21 pm
नतीजे आने से पहले ही आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने लाउडस्पीकरों पर जय हो के नारे लगाने शुरू कर दिए थे।

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को अपने घर पर पंजाब में अपनी पार्टी के सभी 20 विधायकों के साथ बैठक की। इस बैठक में एचएस फुलका को पंजाब विधानसभा में विपक्ष नेता और सुखपाल खेरा को पार्टी का मुख्य सचेतक चुना गया है। इसके साथ ही बैठक में पंजाब में पार्टी को मिली हार की वजहों का मुद्दा भी उठाया गया।

बैठक में पत्रकार कंवर संधू (जो कि अभी खरार से आप विधायक है) ने पार्टी को पंजाब में मिली हार का मुद्दा भी उठाया था। बताया जा रहा है कि संधू ने बैठक में यह भी कहा कि पार्टी को हार से सीख लेने के लिए एक चिंतन शिविर का आयोजन करना चाहिए। अरविंद केजरीवाल ने विधायकों को निर्देश दिए हैं कि आम आदमी पार्टी की हार की वजहों की एक लिस्ट बनाई जाए। यह लिस्ट 15 दिनों के भीतर पार्टी के राज्य संयोजक गुरप्रीत सिंह गुग्गी को सौंपनी है।

पार्टी विधायकों ने कहा कि वे लोग लिस्ट तैयार कर रहे है, लेकिन वे चाहते है कि पार्टी का नेतृत्व स्थानीय नेताओं के साथ बैठे और इस पर विमर्श करे। एक विधायक ने कहा कि यह बैठक विपक्ष का नेता चुनने के लिए इसलिए उन्होंने इस मुद्दे को ज्यादा नहीं उठाया। लेकिन वे लोग सीनियर्स से यह मांग करने के लिए तैयार थे कि जिम्मेदारी तय की जाए और जो जिम्मेदार हैं उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए।

वहीं अरविंद केजरीवाल पंजाब में आम आदमी पार्टी की हार के लिए ईवीएम में छेड़छाड़ को जिम्मेदार बता रहे हैं। केजरीवाल ने चुनाव नतीजों के दिन भी ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की बात कही थी। वहीं बुधवार को एक बार फिर अरविंद केजरीवाल ने ईवीएम मशीन की विश्वसनीयता पर सवाल उठाए। उन्होंने पंजाब का जिक्र करते हुए कहा कि वहां के लोगों में अकाली पार्टी के लिए गुस्सा था फिर भी आप का वोट प्रतिशत 25 प्रतिशत रहा और अकाली का उससे ज्यादा 31 प्रतिशत। केजरीवाल ने पूछा कि ऐसा कैसे हो सकता है?

केजरीवाल ने आगे कहा कि चुनाव आयोग का काम है कि वह लोगों के मन में ईवीएम के लिए विश्वास को बनाए रखें। हो सकता है कि ईवीएम की मदद से आप के 25 प्रतिशत वोटों को अकाली-भाजपा के गठबंधन के पास ट्रांसफर किया गया हो। अब गोवा-पंजाब समेत बाकी राज्यों के चुनावों को रद्द तो नहीं किया जा सकता लेकिन चुनाव आयोग को ईवीएम के प्रति भरोसा वापस लाने का काम जरूर करना चाहिए।

वीडियो- पंजाब में हार पर अरविंद केजरीवाल बोले- "हमारे वोट SAD-BJP को ट्रांसफर हुए, EVM की जांच हो"

वीडियो- दिल्ली: अरविंद केजरीवाल की चुनाव आयोग से मांग- "ईवीएम की जगह बैलेट पेपर से करवाए जाएं MCD चुनाव"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on March 15, 2017 9:21 pm

  1. No Comments.

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

सबरंग