ताज़ा खबर
 

PM मोदी पर भड़कीं मायावती, कहा- पहले बीजेपी शासित राज्यों में बनाए हिंदुओं के श्मशान घाट, फिर यूपी की बात करें

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को फतेहपुर में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि सरकार को भेदभाव से मुक्त होकर शासन करना चाहिए।
श्मशान घाट वाले बयान पर मायावती ने पीएम मोदी पर साधा निशाना। (FILE Photo)

उत्तर प्रदेश में जारी विधानसभा चुनाव के दौरान सभी सियासी पार्टियां वोटों के ध्रुवीकरण के लिए लगातार बयान दे रही है। पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा चुनावी रैली में श्मशान घाट वाले बयान पर विरोधी लगातार निशाना साधा रहे हैं। मंगलवार को बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने निशाना साधते हुए कहा कि पीएम मोदी ने गलत बयान दिया है। पिछले 3-4 दिनों से वह अपने भाषण में जाति और धर्म का एंगल ला रहे हैं। पहले इन्हें अपने बीजेपी शासित राज्यों में हर गांव में हिंदुओं के श्मशान घाट बनवाने चाहिए, फिर यूपी में ये बात करनी चाहिए। बीजेपी को इस बात का एहसास हो गया है कि वह उत्तर प्रदेश में सरकार नहीं बनाने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि बीएसपी ने अपने शासनकाल में हर धर्म का सम्मान किया है, चाहे वो त्योहार के दौरान बिजली देने का मामला हो या कानून-व्यवस्था से जुड़ा मुद्दा हो।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को फतेहपुर में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि सरकार को भेदभाव से मुक्त होकर शासन करना चाहिए। उन्होंने कहा कि गांव में कब्रिस्तान बनता है तो श्मशान भी बनना चाहिए। रमजान में बिजली मिलती है तो दीवाली में भी मिलनी चाहिए। होली में बिजली मिलती है तो ईद पर भी मिलनी चाहिए। कोई भेदभाव नहीं होना चाहिए। सरकार का काम है भेदभाव मुक्त शासन चलाने का। किसी के साथ अन्याय नहीं होना चाहिए … धर्म और जाति के आधार पर बिल्कुल नहीं।’ पीएम मोदी के इस बयान को लेकर सोशल मीडिया पर भी उनकी आलोचना हुई थी। लोगों ने लिखा था कि सांप्रदायिक राजनीति में उनकी घर वापसी है।

किसने-किसने की मोदी के बयान की आलोचना
मायावाती के अलावा आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव में पीएम मोदी के इस बयान की आलोचना की थी। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा- आप PM है साहब।देश में श्मशान बनाने व किसानों के बिल माफ़ करने से किसी ने रोका है क्या? 56इंची व्यक्ति डरपोक रास्ते से देश को गुमराह नही करता। देश ने ऐसा PM नहीं देखा जो सीने पर अपनी पार्टी का चिह्न चिपका धर्म और जाति की बात कर देशवासियों की भावनाएं भड़काने का काम करता है।

– वहीं, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री आनंद शर्मा ने इस बयान को ध्रुवीकरण की कोशिश बताते हुए चुनाव आयोग से कार्रवाई की मांग की। उन्होंने कहा, ‘चुनाव आयोग को प्रधानमंत्री के बयान का संज्ञान लेना चाहिए, यह स्पष्ट तौर पर आयोग के दिशा-निर्देशों का उल्लंघन है।’

– सपा प्रवक्ता जूही सिंह ने कहा कि पीएम ने जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल किया है, हम उसकी निंदा करते हैं।

 

वीडियो: प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- "SCAM का मतलब सपा, कांग्रेस, अखिलेश और मुलायम"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. R
    ritesh
    Feb 21, 2017 at 8:05 am
    बात तो ी कही है माया वती जी ने ! राजस्थान में तो अल्पसंख्यक छात्रों के फ्री रहने के लिये अल्पसंख्यक छात्रावास बनवा दिए मोदी जी ने ! किउन हिन्दू छात्र गरीब नही हैं क्या ? या उनके पीछे अमेरिका में जाना एच लगता है मोदी जी को ? मोदी जी लाल कृष्ण अडवाणी मत बनो ! हिंदुओं का ऐसा काम तो कांग्रेस के शासन में भी हो रहा था , आप विशेष क्या कर रहे हैं और हमारा कुछ विशेष नही करना तो औरों का किउं ?
    Reply
सबरंग