ताज़ा खबर
 

बढ़ाई जाएं निगम चुनावों की तारीख, ईवीएम पर सवाल: बोले केजरीवाल, मतपत्रों के अलावा कोई चारा नहीं

आयोग गड़बड़ी वाली मशीनों के सॉफ्टवेयर को डीकोड करने का तंत्र नहीं होने की लाचारी बता कर इन्हें चुनाव प्रक्रिया से अलग कर देता है।
Author नई दिल्ली | April 4, 2017 02:51 am
दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल

ईवीएम मशीनों के साथ छेड़छाड़ का मामला फिर से उठाते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि मतपत्र के अलावा कोई चारा नहीं है। इसे लागू करने के लिए अगर समय चाहिए तो दिल्ली नगर निगमों के चुनाव की तारीख आगे बढ़नी चाहिए। साथ ही केजरीवाल ने मध्य प्रदेश के भिंड में गड़बड़ी वाले ईवीएम के सॉफ्टवेयर से जुड़ा डाटा सार्वजनिक करने की मांग करते हुए कहा है कि अगर चुनाव आयोग के पास डाटा डीकोड करने का तंत्र उपलब्ध नहीं है तो उनके विशेषज्ञ 72 घंटे में ऐसा कर सकते हैं।
सोमवार को मुख्यमंत्री आवास पर आयोजित संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा कि उन्होंने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर प्रस्ताव भेजा है। उन्होंने कहा कि आयोग गड़बड़ी वाली मशीनों के सॉफ्टवेयर को डीकोड करने का तंत्र नहीं होने की लाचारी बता कर इन्हें चुनाव प्रक्रिया से अलग कर देता है। उन्होंने दलील दी कि ईवीएम में छेड़छाड़ के पुख्ता सबूत मिलने के बाद चुनाव प्रक्रिया को गंभीर आशंकाओं के घेरे से बचाने के लिए उन्होंने अपने सॉफ्टवेयर विशेषज्ञों की सेवाएं देने की पहल की है।

अरविंद केजरीवाल ने चुनाव आयोग की मंशा पर सवाल उठाते हुए कहा कि उत्तर-प्रदेश चुनाव की ईवीएम मशीनें कानून की अनदेखी कर मध्यप्रदेश उपचुनाव में क्यों भेजी गई। उन्होंने कहा कि कानूनन किसी चुनाव में मशीन के इस्तेमाल के बाद नतीजे आने से 45 दिनों के अंदर पर्चियों और मशीनों को हटाया नहीं जा सकता है, लेकिन चुनाव आयोग ने ऐसी 300 मशीनें यूपी के कानपुर के गोविंदनगर से मध्यप्रदेश के भिंड में उपचुनाव के लिए भेजी गर्इं। केजरीवाल ने सवाल किया कि आखिर क्या मजबूरी थी कि गोविंदनगर से ही सारी मशीनें भेजी गर्इं।केजरीवाल ने दावा किया कि मध्य प्रदेश में ईवीएम की गड़बड़ी मिलने के दो दिन बाद कुछ और सबूत मिले हैं जो समूची चुनाव व्यवस्था पर सवाल खड़ा करते हैं। इसमें चौंकाने वाली बात पता चली है कि भिंड में गड़बड़ी वाली मशीन का उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में इस्तेमाल किया गया था। इसके अलावा ट्रायल के दौरान इस मशीन में वोट डालने के बाद वीवीपैट मशीन की पर्ची पर उत्तर प्रदेश की गोविंदपुरी सीट से प्रत्याशी सत्यदेव पचौरी का नाम छपा है।

 

 

ओलंपिक मैडलिस्ट साक्षी मलिक ने रेसलर सत्यव्रत कादियान से की शादी; कई लोगों ने दी बधाई

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.